‘पीएम मोदी को संन्यास ले लेना चाहिए’, प्रधानमंत्री के इस बयान पर बोले कांग्रेस नेता राशिद अल्वी

Photo of author

नई दिल्ली, 15 मई . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक साक्षात्कार में हिंदू-मुस्लिम की राजनीति करने पर ‘सार्वजनिक जीवन से संन्यास’ लेने वाले बयान पर कांग्रेस नेता राशिद अल्वी की प्रतिक्रिया सामने आई है.

उन्होंने से बातचीत के दौरान कहा, “आज तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ज्यादा हिंदू-मुस्लिम की राजनीति इस देश में किसी ने भी नहीं की है. उन्हें अब तक संन्यास ले लेना चाहिए था.“

उन्होंने आगे कहा, “प्रधानमंत्री घुसपैठिया, शमशान घाट, कब्रिस्तान, ईद, दीवाली जैसे मुद्दों पर राजनीति करते हैं. दुनिया के बड़े-बड़े अखबार प्रधानमंत्री द्वारा की जा रही हिंदू-मुस्लिम की राजनीति के बारे में लिख रहे हैं.“

इस बीच, कांग्रेस नेता ने राज्यसभा सदस्य स्वाति मालीवाल की पिटाई के मामले पर भी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा, “स्वाति मालीवाल के साथ ऐसे कृत्य करने वालों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई होनी चाहिए.“

राशिद अल्वी ने सीएम हिमंता बिस्वा सरमा द्वारा सोनिया गांधी पर की गई विवादास्पद टिप्पणी पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी. एक सभा में सीएम हिमंता ने कहा था, “सोनिया गांधी द्वारा राम मंदिर का शुद्धिकरण करना कांग्रेस के लिए खतरनाक होगा.“

हिमंता के इस बयान पर कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने सवाल किया, “क्या सोनिया गांधी ने यह कहा था कि मैं राम मंदिर का शुद्धिकरण करूंगी? वह खुद ही सवाल करके जवाब दे देते हैं. सोनिया गांधी को यह सब करने की क्या जरूरत है. असम के मुख्यमंत्री ऐसे बयानों से आरएसएस और प्रधानमंत्री को खुश कर देश का माहौल खराब करना चाहते हैं. क्या सोनिया गांधी ने इस तरह का कोई बयान दिया है?”

नाना पटोले के बयान को राशिद अल्वी ने उनका ‘निजी मत’ बताया.

दरअसल, नाना पटोले ने बयान दिया था कि कांग्रेस सत्ता में आने पर राम मंदिर का शुद्धिकरण करेगी. इस पर सीएम हिमंता ने सवाल किया कि राम मंदिर का शुद्धिकरण कौन करेगा? सोनिया गांधी?

एसएचके/