पीएम मोदी ने कुशीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे का उद्घाटन किया, कहा इससे खुलेंगी विकास की नई संभावनाएं

कुशीनगर (Kushinagar) . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने बौद्ध धर्म के अनुयायियों के एक प्रमुख ‘तीर्थस्थल’ कुशीनगर (Kushinagar) में 260 करोड़ रुपए की लागत से 589 एकड़ में बने अंतरराष्ट्रीय विमानतल का बुधवार (Wednesday) सुबह उद्घाटन किया. इस अवसर पर संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कहा कुशीनगर (Kushinagar) अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डे की सुविधा एक प्रकार से बौद्ध समाज की श्रद्धा को अर्पित पुष्पांजलि है. पीएम मोदी ने इस दौरान राजकीय मेडिकल कॉलेज समेत 12 अन्य परियोजनाओं का भी शिलान्यास और लोकार्पण किया.

इस अवसर पर संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भगवान बुद्ध से जुड़े स्थानों को विकसित करने के लिए, बेहतर कनेक्टिविटी के लिए, श्रद्धालुओं की सुविधाओं के निर्माण पर भारत द्वारा आज विशेष ध्यान दिया जा रहा है. कुशीनगर (Kushinagar) का विकास, यूपी सरकार और केंद्र सरकार (Central Government)की प्राथमिकताओं में शामिल है. उन्होंने नए हवाई मार्गों के बारे में जानकारी देते हुए कहा उड़ान योजना के तहत बीते कुछ सालों में 900 से अधिक नए मार्गों को स्वीकृति दी जा चुकी है. इनमें से 350 से अधिक पर हवाई सेवा शुरु हो चुकी है. 50 से अधिक नए हवाईअड्डों या जो पहले सेवा में नहीं थे, उन्हें फिर से चालू किया गया है.
एयर इंडिया का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा देश का एविएशन सेक्टर प्रोफेशनली चले, सुविधा और सुरक्षा को प्राथमिकता मिले, इसके लिए हाल में एयर इंडिया से जुड़ा बड़ा कदम देश ने उठाया है. ऐसा ही एक बड़ा रिफॉर्म डिफेंस एयरस्पेस को सिविल यूज के लिए खोलने से जुड़ा है. श्रीलंका का उच्‍च-स्‍तरीय प्रतिनिधिमंडल ने भी कार्यक्रम में हिस्सा लिया. अंतरराष्ट्रीय विमानतल पर उतरने वाले श्रीलंकाई सरकार के विमान में उच्‍च स्‍तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ बौद्ध भिक्षु भी शामिल रहे.

सीएम योगी ने कहा कि यह उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का सौभाग्य है कि प्रधानमंत्री द्वारा उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) को तीसरा इंटरनेशनल एयरपोर्ट सौंपा गया है. इस हवाई अड्डे के बनने से पूर्वी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और पश्चिमोत्तर बिहार (Bihar) के विकास में मदद मिलेगी. इस अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे से न केवल पर्यटन की असीम संभावनाएं पैदा होंगी, बल्कि रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे.
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भगवान बुद्ध से जुड़े सर्वाधिक पावन स्थल उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में हैं, लेकिन उनसे जुड़ी संभावनाओं का बेहतर उपयोग नहीं हो पाया है. हम प्रधानमंत्री मोदी के आभारी हैं कि उन्होंने बौद्ध सर्किट में पर्यटन की संभावनाओं को आगे बढ़ाने और बौद्ध धर्म से जुड़े देशों को इस एयरपोर्ट के माध्यम से जोड़ने का महत्वपूर्ण कार्य किया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने याद दिलाया कि प्रधानमंत्री मोदी ने हवाई चप्पल पहनने वालों को हवाई यात्रा का अवसर दिलाने का वादा किया था और आज उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) देश में सर्वाधिक हवाई अड्डे वाला राज्य बन गया है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कुशीनगर (Kushinagar) अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के उद्घाटन के बाद 11 बजे महापरिनिर्वाण मंदिर में तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय बौद्ध कॉन्क्लेव का शुभारंभ किया. इसके बाद उन्होंने कुशीनगर (Kushinagar) में रामकोला रोड, नारायणपुर में एक जनसभा को संबोधित किया और सवा एक बजे विकास परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया.
गौरतलब है कुशीनगर (Kushinagar) भगवान गौतम बुद्ध की निर्वाण स्थली है और प्रतिवर्ष यहां पर चीन, श्रीलंका, कम्बोडिया, थाईलैंड, जापान, मलेशिया, म्यांमार, कोरिया, लाओस, सिंगापुर, वियतनाम, ताइवान, नेपाल और भूटान से बड़ी संख्या में बौद्ध धर्मावलंबी आते हैं. बिहार (Bihar) की सीमा पर बसे कुशीनगर (Kushinagar) की दूरी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) से करीब 325 किलोमीटर की है. यहां अन्‍तरराष्‍ट्रीय स्‍तर का हवाईअड्डा बनने से देश-विदेश के पर्यटकों को आने में सुविधा होगी.

Check Also

ताइवान में अनुकूल परिस्थितियों से बुजुर्गों के जीवन में आया सुख-संतोष, औसत उम्र बढ़ी

  ताइपे . ताइवान के लोग पहले की तुलना में लंबा जीवन जी रहे हैं …