भारत में दूरसंचार और नेटवर्किंग उत्पादों के निर्माण को बढ़ावा देने के लिए पीएलआई योजना

नई दिल्ली (New Delhi) . संचार राज्यमंत्री देवुसिंह चौहान ने दूरसंचार और नेटवर्किंग उत्पादों के लिए उत्‍पादन से जुड़ी प्रोत्‍साहन योजना (पीएलआई) का शुभारंभ किया. संचार मंत्रालय के दूरसंचार विभाग में विशेष सचिव अनीता प्रवीण, और विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए. चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री की आत्मनिर्भर भारत की परिकल्‍पना को साकार करने के लिए दूरसंचार क्षेत्र में पीएलआई योजना शुरू की गई है. यह दूरसंचार और नेटवर्किंग उत्पादों के आयात के लिए अन्य देशों पर भारत की निर्भरता को कम करने में मदद करेगी. उन्होंने उद्योग जगत के नेताओं से उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद बनाने पर ध्यान केंद्रित करने का आह्वान किया और देश में विश्व स्तर के विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहन और समर्थन प्रदान करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की. दूरसंचार विभाग द्वारा शुरू की गई पीएलआई योजना का उद्देश्‍य 12,195 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय के साथ वृद्धिशील निवेश और कारोबार को प्रोत्साहित करने के लिए दूरसंचार और नेटवर्किंग उत्पादों में घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देना है. यह योजना 1 अप्रैल, 2021 से प्रभावी हो गई है. 1 अप्रैल, 2021 के बाद और वित्त वर्ष 2024-25 तक भारत में सफल आवेदकों द्वारा किया गया निवेश उपयुक्‍त वृद्धिशील वार्षिक सीमा के अंतर्गत इसके लिए पात्र होगा. योजना के तहत सहायता पांच वर्षों अर्थात वित्त वर्ष 2021-22 से वित्तीय वर्ष 2025-26 तककी अवधि के लिए प्रदान की जाएगी.

Check Also

नूपुर रिसाइकलर्स दिल्ली-एनसीआर में 200 ईवी चार्जिंग केंद्र खोलेगी

नई ‎दिल्ली . घरेलू इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) बाजार में प्रवेश करने के साथ नूपुर रिसाइकलर्स, …