भारत-म्यांमार बॉर्डर की बाड़बंदी का प्लान, देश की सुरक्षा से समझौता नहीं करने का गृहमंत्री अमित शाह का ऐलान – indias.news

नई दिल्ली, 6 फरवरी . केंद्र की मोदी सरकार देश की सीमा सुरक्षा के साथ आंतरिक सुरक्षा को लेकर भी लगातार कोई ना कोई फैसला लेती रही है. गृह मंत्री अमित शाह कई मंचों पर कह चुके हैं कि भारत दुनियाभर से अपना दोस्ताना रिश्ता चाहता है, लेकिन देश की सीमा और नागरिकों की सुरक्षा से हम किसी तरह का समझौता नहीं करने वाले हैं. वहीं, पीएम नरेंद्र मोदी पूरी दुनिया को आतंकवाद के खिलाफ एक साथ आने का आह्वान करते रहे हैं.

दूसरी तरफ गृह मंत्री शाह भी कह रहे हैं कि भारत दुनिया भर के देशों के सामने समस्या का समाधान देने वाला देश बनकर उभरा है. लेकिन, आतंकवाद और इसके लिए मुहैया कराए जा रहे धन के खिलाफ अब सबको साथ आने की जरूरत है क्योंकि आतंकवाद अच्छा और बुरा नहीं, सिर्फ आतंकवाद होता है. ऐसे में देश की सीमाओं को अभेद्य बनाने को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा ऐलान किया है. भारत सरकार सीमाओं की बाड़ेबंदी करने जा रही है.

गृह मंत्री अमित शाह ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा, “मोदी सरकार अभेद्य सीमाएं बनाने के लिए प्रतिबद्ध है. भारत-म्यांमार सीमा पर 1,643 किलोमीटर लंबी बाड़ लगाने का फैसला किया गया है. सीमा पर बेहतर निगरानी की सुविधा के लिए एक गश्ती ट्रैक भी बनाया जाएगा.”

उन्होंने जानकारी देते हुए कहा, “मणिपुर के मोरेह में 10 किमी की दूरी पर पहले ही बाड़ लगाई जा चुकी है. इसके अलावा, दो पायलट परियोजनाएं हाइब्रिड सर्विलांस सिस्टम (एचएसएस) के माध्यम से बाड़ लगाने को क्रियान्वित किया जा रहा है. अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर में प्रत्येक 1 किमी की दूरी पर बाड़ लगाएंगे. इसके अतिरिक्त, मणिपुर में लगभग 20 किलोमीटर तक बाड़ लगाने के काम को भी मंजूरी दे दी गई है, जिस पर जल्द ही काम शुरू हो जाएगा.”

जीकेटी/एबीएम