अलीबाबा की फिलैनथ्रॉपी इकाई द्वारा फिलैनथ्रॉपी फोरम का आयोजन

उदयपुर. अलीबाबा समूह के यूसीवेब ने इसकी फिलैनथ्रॉपी इकाई अलीबाबा फाउंडेशन की ओर से भारत में द्वितीय फिलैनथ्रॉपी फोरम की मेज़बानी की जिसका उद्देश्य इस देश में वैश्विक शिक्षा को आगे बढ़ाना है. इस फोरम में जिन पहल की घोषणा की गई उनमें अलीबाबा की ब्राउजऱ यूनिट यूसीवेब द्वारा इंटरनेट प्लस फिलैनथ्रॉपी मॉडल की स्थापना करना है जिसका लक्ष्य एक ऐसे जिम्मेदार कंटेंट पारितंत्र का निर्माण करना है जिससे भारत में डिजिटल खाई को पाटने, रोजगार सृजित करने और गरीबी दूर करने में मदद मिल सके. यूसी ब्राउजऱ विश्व का नंबर 1 थर्ड पार्टी मोबाइल ब्राउजऱ है जिसके दुनियाभर में (चीन को छोडक़र)1.1 बिलियन यूजऱ डाउनलोड्स हैं जिसमें आधे भारत से हैं.
नई दिल्ली का यह फोरम, चीन के हांगझोउ में संपन्न हुए अलीबाबा फाउंडेशन के 9.5 फिलैनथ्रॉपी कॉन्फ्रेंस 2019 का हिस्सा है जिसमें भारत में शिक्षा पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है और साथ ही इस बात पर भी ध्यान दिया जा रहा है कि शिक्षा के लिए समान अवसर देकर हर किसी को सशक्तकरने में इंटरनेट का किस तरह से उपयोग किया जा सकता है. भारतीय अभिनेत्री और लेखिका टिस्का चोपड़ा की मेज़बानी में हुए इस फोरम के तहत विश्वभर के कल्याण, कारोबार और सामाजिक क्षेत्रों से कई दिग्गज वक्ता एक मंच पर आए जिनमें दिल्ली के उप मुख्यमंत्री की राष्ट्रीय कार्यकारी सलाहकार अतिशि मरलेना, अभिनेत्री रिचा चड्ढा और यूनिसेफ की प्रतिनिधि अल्का मलहोत्रा शामिल हैं.
यूसीवेब ग्लोबल बिजऩेस के उपाध्यक्ष हुआइयुआन यांग ने कहा कि जैक मा के इस विश्वास के साथ कि सम्मान प्राप्त करने के लिए हमें इस दुनिया के लिए अच्छा करना होता है, अलीबाबा विश्व की पहली इंटरनेट कंपनी है जिसने परोपकार को अपनी मुख्य रणनीति में समाहित किया है. इसके अनुसार, यूसी ‘इंटरनेट प्लस फिलैनथ्रॉपी’ की अवधारणा लेकर आ रही है जो एक पारदर्शी और प्रभावी मॉडल है जिसमें एक नेक कार्य में सभी की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए इंटरनेट की ताकत का उपयोग किया जाएगा. हमारा लक्ष्य इंटरनेट प्रौद्योगिकियों का उपयोग कर एक जिम्मेदार कंटेंट पारितंत्र का निर्माण करना है जिसके जरिये सूचना एवं ज्ञान का प्रसार किया जा सके और भारतीय बाजार को लेकर हमारी दीर्घकालीन प्रतिबद्धता के तहत इस डिजिटल खाई को पाटा जा सके.
अलीबाबा फाउंडेशन को बधाई देते हुए पुदुचेरी की उप राज्यपाल और मैगसेसे पुरस्कार विजेता डॉक्टर किरण बेदी ने वीडियो संदेश में कहा कि इस प्लेटफॉर्म पर निमंत्रित किया जाना मेरे लिए सम्मान की बात है. अलीबाबा फाउंडेशन के लिए इस दिशा में कदम उठाने का यह सही समय है क्योंकि यह सभी लोगों खासकर ग्रामीण एवं वंचित तबके के बीच डिजिटल साक्षरता बढ़ाने के हमारे प्रधानमंत्री के विजऩ के अनुरूप है. दिल्ली सरकार के उप मुख्यमंत्री की राष्ट्रीय कार्यकारी सलाहकार और आम आदमी पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति की सदस्य सुश्री अतिशि मरलेना ने कहा कि शिक्षा वह केंद्र बिंदु है जिस पर समाज में हर चीज आधारित है. मुझे दिल से इस बात की खुशी है कि शिक्षा के क्षेत्र में परोपकार को लेकर कॉरपोरेट क्षेत्र रूचि दिखा रहा है और अलीबाबा जैसी जबरदस्त दबदबा रखने वाली कंपनियां इस क्षेत्र में उतर रही हैं. मैं इस क्षेत्र के उत्थान के जरिये भारत के लिए एक उज्ज्वल भविष्य की कामना करती हूं.

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News