सीएम खट्टर के खिलाफ प्राथमिकी के लिये अदालत में याचिका

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली की एक अदालत में एक याचिका दायर कर अक्टूबर की शुरूआत में भाजपा सदस्यों को किसानों के खिलाफ उकसाने के आरोप में हरियाणा (Haryana) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया है. अधिवक्ता अमित साहनी ने इस याचिका में आरोप लगाया है कि 3 अक्टूबर को चंडीगढ़ (Chandigarh) में अपने आवास पर पार्टी के किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक के दौरान मुख्यमंत्री (Chief Minister) और भाजपा सदस्य का एक विवादास्पद वीडियो रिकॉर्ड किया गया था.

याचिका में दावा किया गया है कि वीडियो में, मुख्यमंत्री (Chief Minister) को पार्टी कार्यकर्ताओं को विरोध करने वाले किसानों के खिलाफ आपराधिक बल का इस्तेमाल करने के लिये उकसाते, “उत्तर और पश्चिम हरियाणा (Haryana) के हर जिले में 500- 600 से 1,000 स्वयंसेवक बनाने और लाठी-डंडे खाने तथा जेल जाने के लिये तैयार रहने को कहते हुए देखा गया था. याचिका गुरुवार (Thursday) को अतिरिक्त मुख्य मैट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश की जा सकती है. इसमें खट्टर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 153, 153ए, और 505 के तहत प्राथमिकी दर्ज करने की अपील की गई है. याचिका में अदालत से खट्टर को समन जारी करने और कानून के अनुसार उन्हें दंडित करने का आग्रह किया गया है. साथ ही अदालत से अनुरोध किया गया है कि वह पुलिस (Police) अधिकारियों को प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू करने का निर्देश दे.

Check Also

इस हफ्ते 10 करोड़ हो जाएगी असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण की संख्या

नई दिल्ली (New Delhi) . सरकार के ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत असंगठित श्रमिकों का आंकड़ा …