सीएम सोरेन की हरकत की हो रही निंदा, पीएम मोदी से पहले कर दिया ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन

नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय जनता पार्टी के नेता नरेंद्र मोदी और वर्तमान में भारतीय प्रधानमंत्री के प्रमुख के रूप में 20 साल पूरे हो गए हैं. बता दें कि, 7 अक्टूबर 2001 को मोदी ने गुजरात (Gujarat) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) के रूप में शपथ ली थी.पीएमओ ने सुबह एक ट्वीट में कहा कि, पीएम मोदी अक्सर खुद को प्रधान सेवक बताते हैं, जो भारत को आत्मनिर्भर भारत के रास्ते पर ले जाने का प्रयास कर रहे हैं. इसी बीच इस महत्वपूर्ण उपलब्धि पर प्रधानमंत्री को बधाई देने के लिए कई सत्तारूढ़ भाजपा नेता सामने आए हैं.जहां एक तरफ सभी नेता पीएम मोदी को उनके सरकार के 20 साल पूरे होने पर बधाई और शुभकामनाएं दे रहे है वहीं एक नेता है, जिन्होंने ऐसी हरकत की है, जिससे प्रधानमंत्री मोदी का एक तरीके से अपमान ही माना जा रहा है.
बता दें,इनदिनों झारखंड के मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन अपनी एक हरकत से काफी चर्चे में बने हुए है. उन्होंने पीएम केयर फंड से लगे ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन कर दिया है, जिसका वर्चुअल उद्घाटन खुद प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार (Thursday) को करने वाले थे. पीएम मोदी के उद्घाटन से एक दिन पहले मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन ने सदर अस्पताल रांची (Ranchi) में नवअधिष्ठापित 100 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले पीएसए ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन करने के बाद से केन्द्र और राज्य सरकार (State government) में तनातनी बन गई है. भाजपा ने सीएम सोरेन की हरकत को प्रधानमंत्री का बहुत बड़ा अपमान बताया है.

पार्टी ने कहावत कह कर कहा कि माल महाराज का, मिर्जा खेले होली के जरिए भी हेमंत सरकार पर निशाना साधा है. वहीं रांची (Ranchi) से भाजपा सांसद (Member of parliament) संजय सेठ ने कहा कि, सोरेन द्वारा एक दिन पहले उदघाटन करके पीएम मोदी का अपमान कर रहे हैं. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि, कोरोना के विरुद्ध लड़ाई को अंतिम रूप देते हुए पीएम केयर फंड से बने पीएसए प्लांट का लोकार्पण प्रधानमंत्री जी कल करने वाले हैं. झारखंड में भी इसतरह के 27 पीएसए का निर्माण हुआ है. प्रधानमंत्री के लोकार्पण तिथि से एक दिन पूर्व राज्य सरकार (State government) द्वारा लोकार्पण किया जाना समझ से परे है. यह पहली बार नहीं है जब झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने पीएम मोदी का अपमान नहीं किया होगा. उल्लेखनीय है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) द्वारा 6 मई 2021 को किए गए फोन पर झारखंड के मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन की टिप्पणी से राजनीतिक बवाल मच गया था. सोरेन ने 6 मई की मध्य रात्रि एक ट्वीट किया था जिसमें कहा गया था, ‘‘आज आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने फोन किया. उन्होंने सिर्फ अपने मन की बात की. बेहतर होता यदि वह काम की बात करते और काम की बात सुनते.’’ बता दें कि पीएम मोदी ने इस दौरान झारखंड में कोरोना संक्रमण से बढ़ते संकट पर बातचीत की थी. सोरेन के इस ट्वीट पर केन्द्रीय मंत्री एवं झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) अर्जुन मुंडा ने कहा, ‘‘माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) जी ने तो आपको (सोरेन) फोन किया कि कोरोना से कैसे लड़ा जाए और भारत सरकार सबके साथ है. आपने आभार व्यक्त करने की बजाय उनकी आलोचना की. प्रधानमंत्री जी ने अपना बड़प्पन दिखाया लेकिन आपने अपनी तथा मुख्यमंत्री (Chief Minister) पद की गरिमा गिरा दी.’’

Check Also

कोरोना महामारी के कठिन वक्त में भी दोस्‍ती की कसौटी रहा भारत-आसियान : पीएम मोदी

नई दिल्‍ली . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कहा कि कोरोना महामारी …