टी20 विश्व कप को संक्रमण मुक्त रखने आयोजकों ने किये पक्के इंतजाम


दुबई . 17 अक्टूबर से शुरु हो रहे टी20 विश्वकप को कोरोना संकमण से बचाने के पूरे इंतजाम किये जा रहे हैं. इसी के तहत ही सख्त बायो-बबल तैयार किया है. इसे बनाने के लिए उन विशेषज्ञों की सलाह ली गई है, जो फॉर्मूला-1, यूरो 2020 और टोक्यो ओलंपिक की जैव-सुरक्षा से जुड़े थे. आईसीसी के बायो-सुरक्षा के प्रमुख एलेक्स मार्शल ने कहा कि हम किसी तरह की कमी नहीं छोड़ना चाहते हैं. इसलिए टोक्यो ओलंपिक, यूरो 2020 और फॉर्मूला-वन के लिए जैव सुरक्षा की देखरेख करने वाले विशेषज्ञों से हमारी बात हुई है. यहां आईपीएल (Indian Premier League) 2021 का दूसरा हाफ भी खेला जा रहा है. इससे पहले, कई सीरीज भी हुई हैं. इससे हमें बहुत कुछ सीखने को मिला है और टी20 विश्व कप का बायो-बबल प्रोटोकॉल तैयार करने में सहायता मिली है.
टी20 विश्व कप के लिए तैयार किए गए बायो-प्रोटोकॉल में खिलाड़ियों, टीमों और अधिकारियों को किन बातों का ध्यान रखना होगा. यह विस्तार से बताया गया है. अगर कोई संक्रमित होता है तो क्या किया जाएगा यह भी स्पष्ट किया गया है. प्रशंसकों को भी स्टेडियम में पूरी सावधानी रखनी होगी. विश्व कप में हिस्सा लेने आ रही टीमों को अनिवार्य रूप से 6 दिन के लिए पृथकवास में रहना होगा. इस अवधि के दौरान खिलाड़ियों और सहायोग स्टाफ के सदस्यों के 3 कोरोना टेस्ट होंगे जिससे यह तय हो सके कि टूर्नामेंट के अगले चरण में प्रवेश करने वाला कोई भी व्यक्ति संक्रमित नहीं हो. आईसीसी के बायो-प्रोटोकॉल के मुताबिक, अगर बायो-बबल में खिलाड़ी या कोई और कोरोना (Corona virus) से संक्रमित होता है. तो फिर चाहें उसमें लक्षण ना भी नजर आ रहे हों तब भी उसे 10 दिन के लिए अलग रहना होगा.
गिरजा/ 09अक्टूबर 2021

Check Also

आईपीएल के 2022 सत्र की नीलामी में भाग लेने रुट

लंदन . इंग्लैंड टीम के टेस्ट कप्तान जो रूट भी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल (Indian …