आयुध निर्माणी कर्मचारी संघ कोरवा युनियन अमेठी ने निगमीकरण के विरोध में कमर कसी · Indias News

आयुध निर्माणी कर्मचारी संघ कोरवा युनियन अमेठी ने निगमीकरण के विरोध में कमर कसी

केन्द्र सरकार के द्वारा देश के सभी आयुध निर्माणीयो का निगमीकरण किए जाने का विरोध करते हुए   सभी रक्षा प्रतिस्थानो की युनियनो ने सरकार को स्ट्राइक की नोटिस दीया ,जिसमें निगमीकरण प्रस्ताव रद्द न होने की दशा में आगामी 12 अक्टुबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल किए जाने का नोटिस दिया है .आल इंडिया डिफेंस इम्प्लाइज फेडरेशन, इंडियन नेशनल डिफेंस वर्कर्स फेडरेशन एवं सरकार के सहयोगी भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ के आह्वान पर दी गई स्ट्राइक नोटिसों में रक्षामंत्री व प्रधानमंत्री द्वारा फेडरेशनों को दर किनार कर निगमीकरण न करने आश्वासन के बाद भी चोरी छिपे बित्तमन्त्री से सभी आयुध निर्माणियो को निगम बनाने की घोषणा करने का कार्य किया है.आल इंडिया डिफेंस इम्प्लाइज फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री एस एन पाठक एवं महासचिव सी श्रीकुमार ने कहा है कि अभी भी समय है निगमीकरण को रोक कर सरकार आर्डिनेंस फैक्ट्री समेत सभी रक्षा कारखानों को पूरी क्षमता में चलाने की बात करें तो कर्मचारियों को हड़ताल न करने के लिए फेडरेशन समझाने का प्रयास कर सकती है, बसर्ते सरकार की ओर से पूर्व की तरह साजिशें और धोखाधड़ी न की जाए. इस अवसर पर आयुध निर्माणी कर्मचारी संघ कोरवा अमेठी युनियन अध्यक्ष श्री योगेन्द्र कुमार, महामंत्री श्री जितेन्द्र बहादुर यादव, रंजीत कुमार, श्याम बिहारी तिवारी, राजकुमार यादव, श्रवण कुमार, अश्वनी कुमार, विनोद कुमार, दीपक कुमार, श्रीप्रकाश यादव, अरुण कुमार साह, प्रकाश रंजन, दिनेश कुमार मिश्र, रहमान, मुख्य रूप से थे.वहीं आयुध निर्माणी परियोजना कोरवा अमेठी निर्माणी के यूनियनआयुध निर्माणी कर्मचारी संघ कोरवा यूनियन के अध्यक्ष श्री योगेन्द्र कुमार अपने सहयोगियों के साथ निर्माणी के वरिष्ठ महाप्रबंधक श्री उपेन्द्र वशिष्ठ महोदय जी को आगामी 12 अक्टुबर से होने वाली अनिश्चितकालीन हड़ताल का  ज्ञापन सौंपाऔर यूनियन अध्यक्ष श्री योगेन्द्र कुमार ने सरकार के समक्ष अपनी  मांग को रखा है की आयुध निर्माणी कोरवा अमेठी फैक्ट्री के साथ ही साथ किसी भी रक्षा प्रतिस्थानो को निगमीकरण न किया जाए

 

Check Also

लोकसभा में विदेशी चंदा कानून पारित, NGO रजिस्ट्रेशन के लिए आधार जरूरी

-कानून में लोक सेवक के विदेशों से धनराशि हासिल करने पर पाबंदी का प्रावधान किया …