अस्पताल में आग लगने से बेसमेंट में बने कोविड वार्ड से मरीजों की शिफ्टिंग के दौरान एक महिला की मौत

जयपुर . शहर के सीकर बाईपास रोड पर हरमाड़ा के पास निजी अस्पताल में आग लग गई. मरीजों को शिफ्ट किये जाने के दौरान ऑक्सीजन सपोर्ट पर रही कोविड पेशेंट महिला को सीढ़ियों के रास्ते ऊपर लाते समय गिर गई. इसके बाद दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करने से पहले ही महिला ने दम तोड़ दिया. बेसमेंट में बने एक्स-रे रूम में शॉर्ट सर्किट होने से आग लगी.

जानकारी के अनुसार सीकर बाईपास रोड पर हरमाड़ा के पास दीर्घायु हॉस्पिटल के बेसमेंट में ही बने वार्ड में करीब एक दर्जन कोविड मरीज भर्ती थे. बेसमेंट में बने एक्स-रे रूम में शॉर्ट सर्किट से आग लगने से पूरा बेसमेंट धुआं से भर गया. इसके बाद आनन-फानन ने सभी मरीजों को शिफ्ट किया जाने लगा. इसी दौरान नींदड़ निवासी

25 वर्षीय आशा देवी जो ऑक्सीजन सपोर्ट पर थीं को ऑक्सीजन हटाकर सीढियों के रास्ते ऊपर लाया जा रहा था,तभी वह गिर गईं. इसके बाद आशा देवी को सांस लेने में ज्यादा तकलीफ होने लगी, और उसकी हालत बिगड़ने लगी. जिस पर उसे शास्त्री नगर स्थित एक अन्य निजी अस्पताल शिफ्ट करने की प्रक्रिया शुरू की गई,लेकिन इससे पहले ही उसकी मौत हो गई.

आशा देवी की मौत की सूचना के बाद परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल के बाहर हंगामा शुरू कर दिया. इस दौरान मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को समझाईश कर उन्हें शांत कराया. पुलिस के अनुसार ऑक्सीजन की कमी के कारण आशा देवी की मौत हुई है. जिस कारण उसे दूसरे अस्पताल शिफ्ट किया जा रहा था,  जबकि अन्य मरीजों को अस्पताल में ही दूसरे-तीसरे फ्लोर पर शिफ्ट किया गया.

2021-05-08
Previous कोरोना से निधन के बाद सभी पार्थिव शरीर का अंतिम सरकार निशुल्क कराएगी उत्तर प्रदेश सरकार
Next शास्‍त्री पुल पर खड़े ट्रक में भिडा दूसरा ट्रक, दो की मौत और दो घायल

Check Also

दिल्ली कैंट इलाके के श्मशान घाट में दो सगी बहनों से हैवानियत

नई दिल्ली (New Delhi) . राजधानी के दिल्ली कैंट थाना इलाके में कथित तौर पर …

Exit mobile version