अब हरभजन बनना चाहते हैं कोच

दुबई . आईपीएल (Indian Premier League) टीम कोलकाता (Kolkata) नाइट राइडर्स (केकेआर) के स्पिनर हरभजन सिंह अब संन्यास लेकर भारतीय टीम का कोच बनना चाहते हैं. हरभजन का मानना है कि अब उनके खेलने का दौर समाप्त हो गया है. 41 साल के भज्जी आईपीएल (Indian Premier League) के इस सत्र में इमरान ताहिर और क्रिस गेल के बाद तीसरे सबसे अधिक उम्र के खिलाड़ी हैं. आईपीएल (Indian Premier League) इतिहास में वह सबसे सफल गेंदबाजों में से एक हैं. आईपीएल (Indian Premier League) में उन्होंने अब तक 163 मैचों में 150 विकेट लिए हैं और उनका औसत भी 7.07 का रहा जो टी20 के लिहाज से काफी अच्छा माना जाता है.

हरभजन ने साल 2013, 2015 और 2017 में मुंबई (Mumbai) इंडियंस के साथ तीन बार आईपीएल (Indian Premier League) खिताब जीता है. इसके अलावा हरभजन साल 2018 में आईपीएल (Indian Premier League) चैंपियन बनने वाले सीएसके टीम में भी शामिल थे. राजस्थान (Rajasthan) रॉयल्स के खिलाफ केकेआर के आखिरी लीग मैच के दौरान हरभजन ने संन्यास लेने के संकेत दिये. हरभजन ने कहा, इस बार मुझे बहुत अधिक खेल खेलने को नहीं मिला और मैं बहुत अधिक घरेलू क्रिकेट भी नहीं खेलता, इसलिए मुझे नहीं पता कि मैं यहां से आगे खेलूंगा या नहीं. लेकिन मुझे केकेआर के साथ यहां रहने और युवाओं की मदद करने में मजा आया.

हरभजन से कोचिंग की इच्छा पूछे जाने पर उन्होंने कहा, क्रिकेट मेरे लिए अब तक की सबसे बड़ी चीज रही है और मैं किसी भी रुप में भारतीय क्रिकेट या आईपीएल (Indian Premier League) की सेवा करना चाहता हूं. चाहे वह कोचिंग हो या मेंटॉर हो या जो कुछ भी जो मैं टीम के लिए कर सकता हूं. इस सत्र में केकेआर के की ओर से इस अनुभवी स्पिनर को केवल तीन अवसर मिले हैं जिसमें वह एक भी विकेट नहीं ले पाये.

Check Also

नई आईपीएल टीम को लेकर हितों के टकराव मामले में फंसे गांगुली

मुम्बई (Mumbai) . भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष सौरव गांगुली नई आईपीएल (Indian Premier League) …