पटना, 1 अप्रैल . केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने विपक्षी गठबंधन आईएनडीआईए को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आखिर लोकतंत्र की हत्या करने वाले लोग कैसे लोकतंत्र को बचाने की बात कर सकते हैं? इन लोगों को लोकतंत्र का मतलब तक नहीं पता है. ये लोग संविधान का मतलब तक नहीं समझते.

उन्होंने कहा, “यह सब परिवारवादी लोग हैं. ये कई तरह के भ्रष्टाचार के मामलों में संलिप्त रहे हैं और अब यह लोग सिर्फ और सिर्फ अपने सियासी हित को ध्यान में रखते हुए लोकतंत्र बचाने की बात कर रहे हैं, लेकिन सही मायने में इन लोगों को ना ही लोकतंत्र से कोई लेना-देना है और ना ही जनता के हित से कोई सरोकार है.”

नित्यानंद राय ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि ये लोग जनता को बेबकूफ समझते हैं, लेकिन जनता सब समझती है. सही मायने में देखें तो लोकतंत्र के पुजारी कोई और नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही हैं, जिनके नेतृत्व में विकास की गंगा बह रही है. लोकतंत्र के मूल मंत्र को किसी और ने नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही स्थापित किया है, लेकिन कुछ लोग महज अपने सियासी फायदे के लिए लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाने पर आमादा हो चुके हैं, लेकिन इन लोगों को इससे कोई फायदा होने वाला नहीं है.

वहीं, नित्यानंद राय ने आगे मोदी की गारंटी का उल्लेख करते हुए कहा कि मोदी की गारंटी का मतलब है कि इस देश से 25 करोड़ लोगों को गरीबी रेखा से बाहर लाया गया. कमजोर तबके के लोगों को मुफ्त उपचार की सुविधा मिल पा रही है. इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से आयुष्मान योजना की शुरुआत की गई.

उन्होंने आगे कहा, “मोदी की गारंटी रोजगार देने की गारंटी है. मोदी की गारंटी सीमा की सुरक्षा की गारंटी है. देश में शांति व्यवस्था की गारंटी है. इंडी गठबंधन के लोगों की गारंटी लोकतंत्री की हत्या करने की गारंटी है. मोदी की गारंटी गरीबों को घर देने की गारंटी है. मोदी की गारंटी हर घर गांव-गांव बिजली पहुंचाने की गारंटी है.”

एसएचके/