मुंबई, 4 अप्रैल . घरेलू शेयर बाजार गुरुवार को कारोबार के दौरान उतार-चढ़ाव के बीच अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया. हालांकि इसके बाद मुनाफावसूली होने लगी, लेकिन कारोबार के अंत में बेंचमार्क सूसकांक हरे निशान में बंद हुए.

निफ्टी 80 अंक या 0.36 प्रतिशत बढ़कर 22,514.65 पर, जबकि सेंसेक्स 350.81 अंक या 0.47 प्रतिशत बढ़कर 74,227.63 पर बंद हुआ, जो अब तक का सबसे अच्छा प्रदर्शन है.

असित सी. मेहता इन्वेस्टमेंट इंटरमीडिएट्स की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि एनएसई पर साप्ताहिक सूचकांक विकल्पों की समाप्ति के कारण व्यापार अस्थिर रहा. निवेशकों की नजर शुक्रवार को आने वाले आरबीआई के नतीजों पर है.

लार्ज कैप और स्मॉल कैप शेयरों में बढ़त के साथ व्यापक सूचकांक हरे निशान में बंद हुए. साथ ही, आईटी शेयरों में बढ़त रही.

रिपोर्ट में कहा गया है कि सेक्टर के हिसाब से देखें तो ऑटोमोबाइल, सूचना प्रौद्योगिकी, प्राइवेट बैंक और वित्तीय सेवा क्षेत्रों में खरीददारी में रुचि देखी गई, जबकि एफएमसीजी, पीएसयू बैंक और तेल एवं गैस दबाव में रहे.

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि बाजार ने एक छोटे दायरे में सकारात्मक रुझान दिखाया, लेकिन निवेशकों का फोकस गुरुवार को आरबीआई की मौद्रिक नीति घोषणा पर है.

मुद्रास्फीति की मौजूदा चिंता के कारण रेपो दर में कोई बदलाव की संभावना नहीं है.

/