न्यूजीलैंड ने माना-वैश्विक महामारी से पूरी तरह छुटकारा नहीं पा सकते

ऑकलैंड . न्यूजीलैंड सरकार ने अंतत: स्वीकार कर ‎लिया है कि वह विश्व के अन्य अधिकतर देशों की तरह ही कोरोना (Corona virus) वैश्विक महामारी (Epidemic) से पूरी तरह छुटकारा नहीं पा सकती है. देश के ऑकलैंड शहर में कोरोना का डेल्‍टा वेरिएंट फैला है लेकिन सरकार ने बेहद सख्‍त कोरोना लॉकडाउन (Lockdown) में ढील देने का फैसला किया है. वहीं अब न्‍यूजीलैंड की सरकार लोगों को वैक्‍सीन लगवाने के लिए अपील कर रही है.

न्‍यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने ऑकलैंड में लॉकडाउन (Lockdown) संबंधी प्रतिबंधों में ढील की घोषणा करते हुए यह बात स्वीकार की. इस महामारी (Epidemic) की शुरुआत में न्यूजीलैंड ने कड़ा लॉकडाउन (Lockdown) लागू कर और अन्य कड़े कदम उठाकर वायरस को पूरी तरह काबू रखने की कोशिश की थी. हालांकि देश में इस मामले के सामने आने के बाद बेहद कड़ा प्रतिबंध लागू किया गया था, लेकिन यह संक्रमण को पूरी तरह से रोकने के लिए पर्याप्त नहीं था.

देश में संक्रमण के 29 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,300 से अधिक हो गई. कुछ मामले ऑकलैंड के बाहर भी सामने आए हैं. अर्डर्न ने कहा कि ऑकलैंड में सात सप्ताह के प्रतिबंधों के कारण संक्रमण को काबू में रखने में मदद मिली. उन्होंने कहा, ‘इस संक्रमण के बारे में एक बात स्पष्ट है कि लंबे समय तक कड़े प्रतिबंधों के बाद भी मामले समाप्त नहीं हुए, … लेकिन कोई बात नहीं. पहले संक्रमण पूरी तरह रोकना महत्वपूर्ण था, क्योंकि तब हमारे पास टीके नहीं थे, लेकिन अब हमारे पास टीके हैं और अब हम अपनी रणनीति बदल सकते हैं.’

बता दें ‎कि अभी तक न्यूजीलैंड की यह रणनीति 50 लाख आबादी वाले देश के लिए कारगर साबित हुई थी. देश में संक्रमण से 27 लोगों की मौत हुई है.जब अन्य देशों में मृतक संख्या बढ़ रही थी और लोगों का जीवन बाधित था, जब न्यूजीलैंड के लोग अपने कार्यस्थलों, स्कूलों और खेल स्टेडियम में सामान्य रूप से जा रहे थे. लेकिन अगस्त में एक पृथक-वास केंद्र में ऑस्ट्रेलिया से आए एक व्यक्ति के डेल्टा स्वरूप के संपर्क में आने के बाद पूरी तस्वीर बदल गई.

Check Also

इंग्लिश लीग प्रीमियर लीग में चार साल बाद हारी मैनचेस्‍टर सिटी

मैनचेस्टर . इंग्लिश प्रीमियर लीग फुटबॉल टूर्नामेंट में मैनचेस्‍टर सिटी को हराकर वेस्‍ट हैम ने …