नेपाल के नव निर्वाचित राष्ट्रपति 60 साल की राजनीतिक यात्रा में 10 साल से ज्यादा जेल में रहे

रामचंद्र पौडेल

काठमांडू, 09 मार्च . नेपाल के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति रामचंद्र पौडेल अपने राजनीतिक जीवन में 15 बार गिरफ्तार हुए. उन्होंने अपने जीवन के 10 साल से अधिक समय जेल में बिताए हैं.

रामचंद्र पौडेल का जन्म वर्ष 1944 में पश्चिमी नेपाल में पोखरा के पास एक पर्यटन जिले मिरलुंग, बहुन पोखरा, तनहुं में हुआ था. उनके पिता दुर्गा प्रसाद पौडेल और माता ऋषिमाया पौडेल कृषि पर निर्भर थे. उनके परिवार में शिक्षा को महत्व दिया जाता था, इसलिए कम उम्र से ही पौडेल को सीखने और लिखने का माहौल मिल गया.

पौडेल संस्कृति साहित्य में शास्त्री हैं और नेपाली साहित्य में एमए कर चुके हैं. वह 14 साल की उम्र में छात्र (student) राजनीति में सक्रिय हो गए. स्वतंत्र पंचायत के आधे समय तक वे छात्र (student) राजनीति में शामिल रहे और कई बार जेल गए. नेपाली कांग्रेस की राजनीति में एक लंबा समय बिताने के बाद वे तनहुं जिले के सदस्य बने और केंद्र में कार्यवाहक अध्यक्ष भी बने.

पौडेल को अपने राजनीतिक जीवन में कांग्रेस सभापति और प्रधानमंत्री बनने का अवसर मिला. हालांकि, वे दोनों मौकों पर विफल रहे. वर्ष 2011 में प्रधानमंत्री पद के लिए डॉ. बाबूराम भट्टराई 17 बार संसद में चुनाव लड़े, लेकिन 16 बार फैसला नहीं हो सका. दोनों उम्मीदवारों के बीच हुए मुकाबले में पौडेल को भट्टाराई ने 17वीं बार में हराया था. वर्ष 2016 में कांग्रेस सभापति की दौड़ में उन्हें शेर बहादुर देउबा ने हरा दिया था.

पौडेल ने राजनीति में आने के बाद दुखद क्षणों का अनुभव किया. वह अविचलित रहे, लेकिन खुद को राजनीति के लिए समर्पित कर दिया. उन्हें राजनीतिक जीवन में 15 बार गिरफ्तार किया गया. उन्होंने अपने जीवन के 10 साल से अधिक समय जेल में बिताया. बहुदलीय प्रणाली की शुरुआत के बाद पौडेल पांच बार सांसद (Member of parliament) चुने गए. पौडेल के पास स्पीकर, उपप्रधानमंत्री, मंत्री होने का अनुभव है.

/दीपेश