पंजाब के असली मुद्दों से बात नहीं भटकने दूंगा: नवजोत सिंह सिद्धू

नई दिल्ली (New Delhi) .कांग्रेस पार्टी बार-बार यह साबित करने में जुटी है कि उसकी पंजाब (Punjab) इकाई में सबकुछ ठीक चल रहा है लेकिन प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू लगातार ऐसे बयान दे रहे हैं जिससे साफ है कि पंजाब (Punjab) कांग्रेस की कलह बरकरार है. सिद्धू ने एक बार फिर से तीखे तेवर दिखाते हुए कहा है कि वह असली मुद्दों पर डटे रहेंगे और इनसे ध्यान नहीं हटने देंगे. इससे पहले बीते हफ्ते ही सिद्धू ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर मांग की थी कि वह चन्नी सरकार को 13 मुद्दों पर काम करने के निर्देश दें. सिद्धू ने ट्वीट किया, ‘पंजाब (Punjab) को अपने वास्तविक मुद्दों पर लौट आना चाहिए, जो पंजाबी और हमारी आने वाली पीढ़ी की चिंता है. हम उस आर्थिक आपातकाल का सामना कैसे करेंगे जो हमें घूर रहा है? मैं असली मुद्दों पर डटा रहूंगा और उनसे ध्यान नहीं हटने दूंगा. बता दें कि सिद्धू करीब 10 दिन पहले ही केसी वेणुगोपाल और हरीश रावत जैसे वरिष्ठ पार्टी नेताओं से दिल्ली में मिले थे. इस दौरान भी सिद्धू ने एक 18 सूत्रीय एजेंडा को लेकर अपनी चिंताएं जाहिर की थी और कहा था कि इनपर कार्रवाई की जाए. इसमें साल 2015 के गुरुग्रंथ साहिब बेअदबी केस के आरोपियों के खिलाफ एक्शन और ड्रग्स माफियाओं पर कार्रवाई भी शामिल थे. अपने दिल्ली दौरे पर सिद्धू ने राहुल गांधी से भी मुलाकात की थी और इसके बाद उनके इस्तीफे की वापसी का ऐलान भी किया गया था. हालांकि, सिद्धू ने फिर सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर चन्नी सरकार को निर्देश दिए जाने की मांग कर के यह साफ कर दिया था कि उनकी नाराजगी दूर नहीं हुई है. सिद्धू को इसी साल जुलाई में पंजाब (Punjab) कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया था. हालांकि, सितंबर में चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार बनने के महज 8 दिनों के अंदर ही सिद्धू ने कुछ फैसलों से नाराज होकर इस पद से इस्तीफा देकर सबको हैरान कर दिया था.

Check Also

इस हफ्ते 10 करोड़ हो जाएगी असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण की संख्या

नई दिल्ली (New Delhi) . सरकार के ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत असंगठित श्रमिकों का आंकड़ा …