एमवीए ने सत्तारूढ़ महायुति पर चुनाव से पहले गैंगस्टरों की भर्ती करने का लगाया आरोप – indias.news

मुंबई, 6 फरवरी . कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष (विधानसभा) विजय वडेट्टीवार और शिवसेना (यूबीटी) सांसद संजय राउत ने मंगलवार को सत्तारूढ़ महायुति सरकार पर चुनाव से पहले अपने महागठबंधन में ‘गैंगस्टरों और खलनायकों की भर्ती’ करने का आरोप लगाया. .

वडेट्टीवार ने शिवसेना-भारतीय जनता पार्टी-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एपी) की सत्तारूढ़ तिकड़ी का जिक्र करते हुए कहा,“चुनाव से पहले महागठबंधन में गुंडों की भर्ती! सत्ता में मौजूद सभी तीन दलों के बीच अपने-अपने गिरोह को मजबूत करने के लिए कड़ी प्रतिस्पर्धा है.”

एमवीए ब्लॉक के राउत ने कहा,“महाराष्ट्र में गैंगस्टरों का शासन जारी हैै, सत्तारूढ़ दल के विधायक पुलिस स्टेशन के अंदर गोलीबारी करते हैं. गैंगस्टर इतने ताकतवर क्यों हो गए? इस स्थिति के लिए कौन जिम्मेदार है.”

एमवीए के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए, शिवसेना मंत्री दीपक केसरकर ने कहा कि कई लोग रोजाना सीएम से मुलाकात करते हैं. केसरकर ने कहा, “हम उन्हें सीएम से मिलने या उनके साथ तस्वीरें खिंचवाने से नहीं रोक सकते. आरोपों का कोई आधार नहीं है.”

उदाहरण देते हुए, वडेट्टीवार ने कहा कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के बेटे, डॉ. श्रीकांत ई. शिंदे ने पुणे के मारे गए डॉन शरद मोहोल के सहयोगी व कुख्‍यात गैंगस्टर हेमंत दाभेकर के साथ बैठक की.

डॉ. शिंदे को उनके जन्मदिन पर सम्मानित करने के लिए कथित तौर पर सीएम के आधिकारिक आवास ‘वर्षा’ जाने वाले दाभेकर की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हैं.

पुणे के एक अन्य बदमाश नीलेश घईवाल ने ‘वर्षा’ में सीएम से मुलाकात की और उस यात्रा की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, इससे सत्तारूढ़ गठबंधन को शर्मिंदगी उठानी पड़ रही है.

डिप्टी सीएम अजीत पवार के बेटे ने उस समय हलचल पैदा कर दी जब उसने जाने-अनजाने में पुणे में कुख्यात हिस्ट्रीशीटर गजानन मार्ने को बुलाया, इससे एनसीपी (एपी) को शर्मीदंगी उठानी पड़ी.

बेटे की इस हरकत पर पिता अजीत ने फटाकर लगाई. अजीत पवार भी खुद उस समय संदेह के घेरे में आ गए, जब एक कथित संदिग्ध तत्व, आसिफ मोहम्मद इकबाल शेख, उर्फ आसिफ दाधी, जो कथित तौर पर प्रतिबंधित सिमी आतंकवादी संगठन के साथ संबंध रखते था, उसे बुलाया.

“लोग उन शासकों से कानून और व्यवस्था की उम्मीद कैसे कर सकते हैं जो गुंडों का मनोरंजन करते हैं?” वडेट्टीवार ने कहा कि माफिया को महायुति शासन का पूरा समर्थन मिल रहा है.

राउत ने कहा कि गैंगस्टर राज्य सरकार के आशीर्वाद से खुलेआम घूम रहे हैं, और पूछा कि “उन्हें कौन खिला रहा है.”

एमवीए की हिट-लिस्ट सत्तारूढ़ शिवसेना के मंत्रियों के एक चिंतित समूह द्वारा डिप्टी सीएम देवेंद्र फड़नवीस को फोन करने और बीजेपी विधायक गणपत कालू गायकवाड़ द्वारा सीएम के खिलाफ लगाए गए आरोपों के बारे में शिकायत करने के ठीक एक दिन बाद आई.

कल्याण पूर्व के विधायक गायकवाड़ पर 2 फरवरी को उल्हासनगर के हिल लाइन्स पुलिस स्टेशन के अंदर शिवसेना कल्याण प्रमुख महेश गायकवाड़ और उनके सहयोगी राहुल पाटिल को गोली मारने का आरोप है, इससे राज्य में एक बड़ा राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया.

गायकवाड ने शनिवार तड़के ठाणे पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने से पहले कहा,”शिंदे राज्य में गुंडों का साम्राज्य स्थापित करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने उद्धव ठाकरे को धोखा दिया, वह भाजपा को भी धोखा देंगे. उन पर मेरे करोड़ों रुपये बकाया हैं. अगर महाराष्ट्र को अच्छी तरह से प्रशासित करना है तो शिंदे को पद छोड़ देना चाहिए. यह मेरी फड़णवीस और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से विनम्र अपील है.”

गायकवाड़ के आरोपों के राजनीतिक असर से परेशान होकर, जिसे शिवसेना ने ‘निराधार और अनुचित’ करार दिया है, मंत्रियों ने मामले में फड़णवीस से कार्रवाई की मांग की.

/