MUKESH AMBANI चुपके से क्यों कर रहे हैं ये काम ! हो सकता है ये बड़ा धमाका

MUKESH AMBANI चुपके से क्यों कर रहे हैं ये काम ! हो सकता है ये बड़ा धमाका

नई दिल्ली. देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी एक बार फिर एक बड़ा धमाका करने की तैयारी में लगे हुए हैं. जिस तरह मुकेश अंबानी से मुकेश अंबानी ने टेलिकॉन सेक्टर में तहलका मचाया था. उसी तरह रिटेल कारोबार में भी अंबानी तहलका मचाने के लिए तैयार है.

मुकेश अंबानी का बड़ा कदम-

जिस तरह से मुकेश अंबानी ने जियो पर चुपचाप 2 साल काम कर एकदम से जियो को लॉन्च कर सबकी नींदे उड़ा दी थी ठीक उसी तरह मुकेश अंबानी रिटेल के कारोबार में भी सबकी नींदे उड़ाने को तैयार हैं. मुकेश अंबानी तेजी से रिटेल कारोबारा में अपने पैर पसारने पर काम कर रहे हैं. मुकेश अंबानी की रिलायंस रिटेल देश का सबसे बड़ा ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म लाने जा रही है. इसी के लिए कंपनी छोटे से छोटे किराने की दुकान वाले को कार्ड स्वाइप की सुविधा देने वाली है. कंपनी किराने वालों को प्वाइंट ऑफ सेल मशीन दे रही है.

1200 किराना दुकानों को जोड़ रही कंपनी-

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार रिलायंस 1200 किराना दुकानों को पिछले महीने से पीओएस प्रोजेक्ट के तहत टेस्टिंग कर रही है. बता दें कि अभी ये काम अहमदाबाद में चल रहा है. मुकेश अंबानी ये कदम रिटेल कारोबार में खुद को FLIPKART और AMAZON से आगे बढ़ाने के लिए उठा रहे हैं. FLIPKART और AMAZON ने रिटेल बड़े बाजार पर अपना कब्जा जमा रखा है. इसलिए रिलायंस का रिटेल बाजार में सिक्का जमाना इतना आसान नहीं होने वाला है.यहीं कारण है कि मुकेश अंबानी नई-नई रणनितियां अपना रहे हैं.

3000 रुपए में दी जा रही मशीने-
रिलायंस को लगता है कि ये टच स्क्रीन वाली पीओएस मशीन डिजिटल होने के लिए पहला कदम है. रिलायंस ये मशीने 3000 रुपए के रिफंडेबल रकम के साथ दे रही है.साथ ही कंपनी इसमे जियो का कनेक्शन भी दे रही है. रिलायंस ये सारी तैयारी अपने ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म लाने से पहले कर रही है.दरअसल रिलायंस कुछ महीनों में अपने ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म को लॉन्च करने वाली है. इन मशीनों के जरिए वो सभी को रिलायंस के साथ जोड़गी. ताकि रिलायंस का कारोबार तेजी से बढ़े और वो लोगों को FLIPKART और AMAZON से बेहतर सुविधा दे सके.

मशीनों में मिलेगी ये सुविधा-

रिलायंस की इस मशीन में बिलिंग, क्रेडिट डेबिट कार्ड स्वाइप की सुविधा है. इसके अलावा इसमें वो जीएसटी की गणना की भी सुविधा दे रही है.एक तरफ जहां रिलायंस खुद के कारोबार को बढ़ाने के लिए ये कदम उठा रही है. वहीं दूसरी तरफ अमेरिका की कंपनी वॉलमार्ट भी पीछे नहीं है. वॉलमार्ट लखनऊ में किराना डेवलपमेंट प्रोग्राम की टेस्टिंग कर रही है.कंपनी करीब तीन दर्जन छोटी दुकानों पर खुद की प्वाइंट ऑफ सेल्स मशीने टेस्ट कर रही है.

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*