गौतम बुद्ध यूनिवर्सिटी के वाटर टैंक में मिले महिला के शव मामले में मां-बेटा गिरफ्तार

Photo of author

ग्रेटर नोएडा, 11 मई . ग्रेटर नोएडा के थाना इकोटेक प्रथम पुलिस ने गौतम बुद्ध यूनिवर्सिटी के वाटर टैंक में मिले अज्ञात महिला के शव के मामले में एक महिला समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है. ये दोनो मां-बेटे हैं. मृतक महिला बेटे के साथ उसकी पत्नी का नाम रख कर रह रही थी.

दरअसल, 6 मई को पुलिस को गौतम बुद्ध यूनिवर्सिटी में एम ब्लॉक के ऊपर बने सीमेंटेड वाटर टैंक में एक अज्ञात महिला का शव होने की सूचना मिली थी. थाना इकोटेक प्रथम पुलिस द्वारा महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया था.

प्रारम्भिक जांच व पड़ोसियों से पूछताछ में महिला की शिनाख्त कौशल के रूप में हुई जो कपिल नामक शख्स की पत्नी है. पुलिस ने जब जांच की तो पता चला कि कौशल अपने मायके में बिल्कुल सुरक्षित और सकुशल मौजूद है.

कौशल ने पुलिस को बताया कि वो कपिल से झगडे़ व पारिवारिक कलह के चलते करीब 1 साल से अलग अपने मायके में रह रही है. कपिल ने किसी दूसरी महिला से शादी कर ली और उसी के साथ रह रहा है.

इस सूचना के बाद पुलिस टीम ने जांच करते हुए मृतका की शिनाख्त पूनम यादव के रूप में की जो 2015 से कपिल के साथ रह रही थी. ये दोनो पति-पत्नी बनकर रह रहे थे.

पूनम के परिजनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर उसके पति और मां की तलाश शुरू कर दी.

थाना इकोटेक प्रथम पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए इंटेलिजेंस व इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस की मदद से घटना में शामिल अभियुक्त कपिल और उसकी मां सुमित्रा को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस पूछताछ में पता चला है कि मृतका पूनम यादव, कपिल और उसकी मां सुमित्रा के साथ गौतम बुद्ध युनिवर्सिटी एम ब्लॉक एफ एफ-53 में रहती थी. 5 मई की देर रात पूनम का कपिल व उसकी मां से झगड़ा हो गया था. झगड़े के दौरान कपिल ने मृतका पूनम को धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया और गला पकड़ कर सिर को जमीन पर पटक दिया. इस दौरान सुमित्रा ने मृतका के पैर पकड़ रखे थे.

पूनम की मृत्यु हो जाने के बाद दोनों ने शव को छिपाने के लिए उसे तीसरी मंजिल पर बने पानी के टैंक मे छिपा दिया और फरार हो गए.

पीकेटी/