मोटेरा की पिच से स्पिनरों को सहायता मिलने की संभावना

मुम्बई (Mumbai) . भारत और इंग्लैंड के बीच बुधवार (Wednesday) से अहमदाबाद (Ahmedabad) के मोटेरा स्टेडियम में होने वाले दिन-रात्रि टेस्ट में भी मेहमान टीम इंग्लैंड को करारा झटका लग सकता है. गुलाबी गेंद से होने वाले इस मैच में इंग्लैंड टीम को उम्मीद है कि उसके तेज गेंदबाजों को पिच से अतिरिक्त उछाल मिलेगा पर गेंद ज्यादा स्विंग होगी तो उसे निराश होना पड़ सकता है.

अटकलें हैं कि चेन्नई (Chennai) की तरह मोटेरा की पिच भी स्पिन गेंदबाजों की सहायक रहेगी. अगर ऐसा होता है तो इंग्लैंड की सीरीज में वापसी की उम्मीदों को झटका लग सकता है. टीम इंडिया के लिए यह विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्लयूटीसी) के फाइनल की रेस में बने रहने के लिए अहम है. यही वजह है कि भारत इस टेस्ट में मेजबान होने के कारण घरेलू हालातों का फायदा उठाना चाहेगा. यह तभी मुमकिन होगा जब मोटेरा में गेंद टर्न होने लगेगी. ऐसे में इसपर स्पिनरों का सामना करन कठिन होगा.

घरेलू क्रिकेट में गुलाबी से खेल चुके खिलाड़ियों के अनुसार इस गेंद में चमक ज्यादा होती है, जो स्पिनरों के लिए फायदेमंद होती है. लेग स्पिनर कर्ण शर्मा के मुताबिक गुलाबी गेंद से स्पिनर्स (Nurse) को खेलना बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं होता है. खासतौर पर जब दिन-रात्रि मैच हो. वहीं सौराष्ट्र की तरफ से घरेलू क्रिकेट खेलने वाले बल्लेबाज शेल्डन जैक्सन का भी मानना है कि गुलाबी गेंद के लिए पिच अहम होगी. अगर पिच पर घास होगी तो तेज गेंदबाज असरदार साबित होंगे वहीं लेकिन अगर ट्रैक टर्निंग होगा तो फिर फ्लड लाइट में स्पिनरों को खेलना आसान नहीं होगा.

Check Also

आईपीएल: सुपर किंग्स ने खास तरीके से मनाया धोनी के 200वें मैच का जश्न

नई दिल्ली (New Delhi) . तेज गेंदबाज दीपक चाहर (13 रन पर चार विकेट) की …