MODI लोकतांत्रिक प्रक्रिया से चुने गए दुनिया के सबसे शक्तिशाली नेता बनने के करीब-आनंद महिंद्रा

MODI लोकतांत्रिक प्रक्रिया से चुने गए दुनिया के सबसे शक्तिशाली नेता बनने के करीब-आनंद महिंद्रा

मुंबई/नई दिल्‍ली. लोकसभा चुनाव के नतीजों के रूझान पर महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने कहा कि नरेंद्र मोदी लोकतांत्रिक प्रक्रिया से चुने गए दुनिया के सबसे शक्तिशाली नेता बनने के करीब हैं. आनंद महिंद्रा ने ट्विट करके कहा कि लोकसभा चुनावों की मतगणना को देखते हुए महसूस हुआ कि मेरी आंखों के सामने इतिहास नया मोड़ ले  रहा है.

उन्‍होंने आगे कहा कि दो नए पावर ब्लॉक संस्थानों को बदल  रहे हैं. मैं राजनीतिक दलों की नहीं, बल्कि महिलाओं-युवाओं और नए वोटरों की बात कर रहा हूं. वो भारत का भविष्य   तय करेंगे. उनकी संख्या बढ़ रही है.

मोदी का विजन विकास को आगे बढ़ाएगा- अनिल अग्रवाल

वेदांता रिसोर्सेज के चेयरमैन अनिल अग्रवाल ने ट्वीट कर कहा कि शानदार रुझान आ रहे हैं. लोकतंत्र की जीत हो रही है. इस जीत का श्रेय विकास के लिए मतदान करने वाली जनता को इसका जाता है. नरेंद्र मोदी को बधाई देते हुए अग्रवाल ने कहा कि उनका विजन भारत की विकास यात्रा को आगे बढ़ाने में मदद करेगा.

इकोनॉमिक इंजन में जान फूंकने की जरूरत-किरण मजूमदार शॉ

बायोकॉन की चेयरपर्सन कर कहा है कि एनडीए-2 को अपने पहले कार्यकाल में तैयार योजना को लागू करने पर फोकस करना होगा. उन्‍होंने अपने ट्विट में कहा कि मजबूत सुधारों और रोजगार के अवसर पैदा करने के साथ इकोनॉमिक इंजन  में जान फूंकने की जरूरत है.

देश में रिफॉर्म का वक्त- उदय कोटक

कोटक महिंद्रा बैंक के सीईओ उदय कोटक ने कहा कि भारत में बदलाव का वक्त है. रिफॉर्म का वक्त है.उन्‍होंने कहा कि मैं देश के ग्लोबल सुपरपावर बनने का सपना देख रहा हूं. नरेंद्र मोदी, भाजपा और एनडीए को हार्दिक बधाई.

कॉरपोरेट टैक्स कम होना चाहिए- आदि गोदरेज

गोदरेज ग्रुप के चेयरमैन आदि गोदरेज ने कहा कि नई सरकार से उम्मीद है कि वह जीडीपी ग्रोथ को बढ़ाने के लिए ठोस कदम उठाएगी. गोदरेज ने कहा कि हमारे देश में कॉरपोरेट टैक्स की रेट दुनिया में सबसे ज्यादा है, जिसे कम किया जाना चाहिए.

सरकार ने इसे घटाकर 25 फीसदी करने का वादा किया था. छोटी कंपनियों को राहत दी गई, लेकिन बड़ी कंपनियों को नहीं. मुझे लगता है कि कॉरपोरेट टैक्स कम करने का कदम बेहद अहम होगा.

साहसिक सुधारों की जरूरत- अरविंद पनगड़िया

नीति आयोग के पूर्व चेयरमैन अरविंद पनगड़िया ने ट्वीट कर कहा कि अब साहसिक सुधारों और देश को पूरी तरह बदलने का वक्त है. सरकार को बिजनेस के लिए स्वस्थ ईकोसिस्टम तैयार करना चाहिए और कारोबारियों को रोजगार बढ़ाने की जिम्मेदारी लेनी चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*