मोढवाडिया का सीआर पाटील से सवाल, भाजपा के 1 करोड़ सदस्यों में कितनों को नौकरी दी?


अहमदाबाद (Ahmedabad) . गुजरात (Gujarat) भाजपा प्रमुख सीआर पाटील के पन्ना प्रमुखों को नौकरी दिलाने के बयान पर प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अर्जुन मोढवाडिया ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. मोढवाडिया ने सीआर पाटील के इस बयान को गुजरात (Gujarat) के अब तक राजनीतिक इतिहास का सबसे बड़ा झूठ बताते हुए सवाल किया है कि पाटील ने प्रदेश भाजपा के 1 करोड़ सदस्यों में से कितनों को नौकरी दिलाई है?

उन्होंने कहा कि भाजपा के दावे के मुताबिक उसने प्रति बूथ में 30 पन्ना प्रमख बनाए हैं और बूथ की भी पन्ना समिति बनाई है. इस हिसाब से कुल संख्या 14 लाख से अधिक होती है. इसके अलावा भाजपा के ही दावे के मुताबिक गुजरात (Gujarat) में उसके सदस्यों की संख्या एक करोड़ है. सवाल यह है कि आखिर सीआर पाटील ने 1 करोड़ सदस्यों में से कितनों को अब तक नौकरी दिलाई है? सरकारी नौकरी दिलाई है तो किस भर्ती के तहत किसी परीक्षा को पास कराई? मोढवाडिया ने कहा कि गुजरात (Gujarat) सरकार कोई भाजपा या सीआर पाटील की फर्म नहीं है. बल्कि गुजरात (Gujarat) की जनता का प्रतिनिधित्व करने वाली निर्वाचित और संविधान से बंधी सरकार है.

ऐसे में सरकार किसी को भी केवल भाजपा के सदस्य होने के नाते नौकरी देकर योग्य युवाओं के साथ अन्याय नहीं कर सकती. उन्होंने कहा कि गुजरात (Gujarat) में सरकारी और अर्ध सरकारी कर्मचारियों की कुल संख्या मिलाकर भी 15 लाख नहीं होती. ऐसे में सवाल यह है कि क्या सीआर पाटील इन सभी जगहों पर केवल और केवल भाजपा के पन्ना प्रमुखों को ही नौकरी देना चाहते हैं? यदि ऐसा है तो गुजरात (Gujarat) के उन योग्य युवाओं का क्या जो नौकरी के लिए वर्षों तक पढ़ाई करते हैं, घर और परिवार से दूर रहकर परीक्षा की तैयारी करते हैं, लाखों रुपए खर्च करते हैं?

सीआर पाटील को चाहिए कि वे इन युवाओं के सवाल का जवाब दें. मोढवाडिया ने कहा कि मेरी भाजपा के सदस्यों से भी अनुरोध है कि उनके परिवार में किसी को नौकरी नहीं मिलती है तो वे सीआर पाटील को फोन कर अपने परिवार के सदस्य को नौकरी देने की मांग करें. अगर नौकरी नहीं मिलती है तो भाजपा के सदस्यों को सार्वजनिक तौर पर झूठ का खुलासा करना चाहिए. मोढवाडिया ने ऐसे झूठ और फर्जी तर्क पेश कर जनता के साथ विश्वासघात बंद करने की भाजपा को नसीहत दी है.

Check Also

आयकर विभाग ने 18 अक्टूबर तक करदाताओं को रिफंड किए 92,961 करोड़ रुपए

नई दिल्ली (New Delhi) . देश के आयकर महकमें ने चालू वित्त वर्ष (2021-22) में …