शनिवार को रहा MLSU एवं इंजीनियरिंग के छात्रों ने छात्रों ने अगली कक्षा में प्रमोट करने की मांग को लेकर चलाया अभियान ट्वीट ट्रेंडिंग पर · Indias News

शनिवार को रहा MLSU एवं इंजीनियरिंग के छात्रों ने छात्रों ने अगली कक्षा में प्रमोट करने की मांग को लेकर चलाया अभियान ट्वीट ट्रेंडिंग पर


उदयपुर (Udaipur). दिनांक 16/5/2020 को कोरोना रूप इस वैश्विक महामारी (Epidemic) के दौर में शनिवार (Saturday) को MLSU तथा इंजीनियरिंग के छात्रों ने विद्यार्थियों व समाज के हित को देखते हुए सभी विद्यार्थियों को बिना परीक्षा अगली कक्षा में प्रमोट करने को लेकर ट्वीटर,फेसबुक,इंस्टाग्राम पर सभी छात्रों ने विज्ञान महाविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष चिराग चौधरी के नेतृत्व में
#No_mlsu_exam
#no_rtu_exam
#promote_university_students
#no_room_rent हैशटेग से सभी जिम्मेदार नेताओ,प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, शिक्षामंत्री आदि को टैग करके एक ही समय पर पोस्ट करके इस अभियान से इस समर्थन में एक मुहिम चलाई जिसका उदयपुर (Udaipur) के सभी विश्वविद्यालयों के छात्रों के साथ साथ सभी छात्रनेताओं ने भी भरपूर समर्थन दिया. इसकी शुरुआत विज्ञान महाविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष चिराग चौधरी ने की जिसका MLSU के पूर्व अध्यक्ष अमित पालीवाल, एनएसयूआई प्रदेश महासचिव कुशलेश चौधरी,पूर्व एनएसयूआई जिलाध्यक्ष यशवंत चौधरी,एनएसयूआई जिला प्रवक्ता शक्ति सिंह झाला,पूर्व वाणिज्य उपाध्यक्ष मुकुल मेनारिया, विज्ञान महाविद्यालय छात्रसंघ उपाध्यक्ष विनोद सिंह झाला,MLSU इकाई उपाध्यक्ष NSUI शुभम शर्मा,छात्रसंघ महासचिव भरत कुमार बोस,वाणिज्य महाविद्यालय छात्रसंघ उपाध्यक्ष हरीश पूरी,वाणिज्य महासचिव गोविंद पाल सिंह देवल,निम्बाहेड़ा के राजकीय महाविद्यालय के अध्यक्ष रोमित चौधरी,आबूरोड के महाविद्यालय के छात्रनेता कुंदन चौहान, कला महाविद्यालय छात्रसंघ महासचिव किशन लाल भील,कुलदीप चौधरी,आदि कई छात्रनेताओं ने विज्ञान महाविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष चिराग चौधरी की इस मुहिम का समर्थन किया.

तथा इसके साथ ही इंजीनियरिंग छात्रों को भी अगली कक्षा में प्रमोट किया जाए इस सम्बंध में एनएसयूआई जिला प्रवक्ता शक्ति सिंह झाला के नेतृत्व में अभियान चलाया गया,विज्ञान महाविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष चिराग चौधरी ने बताया कि कोरोना रुपी इस वैश्विक महामारी (Epidemic) के दौर में विद्यार्थियों व समाज के हित को देखते हुए सभी विद्यार्थियों को बिना परीक्षा अगली कक्षा में प्रमोट करने के लिए हमने यह अभियान चलाया है जिसका सभी छात्रनेताओं ने समर्थन किया है.
इस संक्रमण के दौर में अगले 6 महीने परीक्षा करवाना एक गम्भीर परिणाम दे सकता है.

कोरोना रूपी इस वैश्विक महामारी (Epidemic) के दौर में हमारे विश्वविद्यालय में आगामी समय अगर परीक्षाएं आयोजित करवाई जाती है, तो इन परीक्षा के दौरान कोई भी विद्यार्थी कोरोना से संक्रमित हो सकता है, एक साथ कई विद्यार्थियों के परीक्षा देने से संक्रमण फैलने की पूर्ण आशंका है और अगर ऐसा होता है तो इसकी पूर्ण जीमेदारी विश्वविद्यालय प्रशासन वह राजस्थान सरकार (Government) की होगी

Check Also

महिला व पुरुष एक दूसरे के पूरक:- एडवोकेट ऐश्वर्या भाटी

उदयपुर (Udaipur). बार एसोसिएशन, उदयपुर (Udaipur) की ओर से अपने सदस्य  साथियों एवं विधि छात्रों …