आईपीएल में अवसर के नाम पर युवा क्रिकेटरों से लाखों रुपये की ठगी

नई दिल्ली (New Delhi) . इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल (Indian Premier League)) में अवसर दिलाने के नाम पर युवा क्रिकेटरों से लाखों रुपये की ठगी का मामला सामने आया है. खिलाड़ियों से पैसे लेकर उन्हें राज्य या आईपीएल (Indian Premier League) टीमों में मौका देने के नाम पर ठगी करने वाले एक कोच कुलबीर रावत को पुलिस (Police) ने पकड़ा है. कुलबीर ने माना है कि उसने आठ से नौ खिलाड़ियों से पैसे लिए थे. इस पूछताछ के दौरान रावत ने सिक्किम क्रिकेट एसोसिएशन के चयनकर्ता बिकाश प्रधान का भी नाम भी लिया, जिसके कथित तौर पर घोटालेबाज के साथ संबंध हैं. अब गुरुग्राम (Gurugram)पुलिस (Police) जल्द ही उन्हें जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजेगी. वहीं इसी बीच आशुतोष बोरा और कुलबीर रावत के बीच चैट रिकॉर्ड से इस मामले में कुछ बड़े लोगों के भी लप्त होने के संकेत मिले हैं.

एक रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस (Police) ने कहा कि चैट में यूपी क्रिकेट एसोसिएशन के चयनकर्ता अकरम खान, उपाध्यक्ष माहिम वर्मा और उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन के सीईओ अमन का भी जिक्र है. पुलिस (Police) ने कहा कि चैट में रावत ने यह भी संकेत दिया कि उन्होंने कई बार यूपी और उत्तराखंड क्रिकेट संघों के माध्यम से उम्मीदवारों का चयन किया है. पुलिस (Police) जांच में शामिल होने के लिए चैट में उल्लिखित नामों को नोटिस देने के लिए भी तैयार है. रावत के खाते में आशुतोष बोरा की फर्म के खाते से 35 लाख रुपये से ज्यादा ट्रांसफर किए गए. सिक्किम क्रिकेट एसोसिएशन के चयनकर्ता बिकाश प्रधान को बोरा के खाते से 2 लाख रुपये से ज्यादा का ट्रांसफर किया गया. इसके अलावा अरुणाचल क्रिकेट एसोसिएशन मौजूदा अध्यक्ष नबाम विवेक भी जांच में शामिल होंगे.
 

Check Also

गृह मंत्री शाह ने 100 करोड़ टीकाकरण का श्रेय पीएम मोदी को दिया, देशवासियों को दी बधाई

नई दिल्ली (New Delhi) . देश में कोरोना महामारी (Epidemic) से निजात दिलाने के लिए …