धरना दिया तो तीन डॉक्टरों के बोर्ड से हुआ मेडिकल मुआयना

बूंदी, 05 सितंबर (उदयपुर किरण). गेंडोली थाने में पुलिस की बर्बरता का शिकार हुए बजरंगदल गेंडोली इकाई अध्यक्ष महावीर भाटिया का अस्पताल प्रशासन ने इलाज बंद कर दिया. साथ ही उनके द्वारा की जा रही मेडिकल बोर्ड से मेडिकल जांच की मांग को वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है. इलाज में बरती जा रही लापरवाही तथा अनावश्यक दबाव बनाने के विरोध में गुरुवार को भाजपा प्रदेश प्रतिनिधि रूपेश शर्मा, बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद, देवसेना, आजाद फोर्स, व्यापार संगठन एवं बूंदी संघर्ष समिति द्वारा जिला अस्पताल के बाहर धरना शुरू किया. इसके बाद हरकत में आए जिला, पुलिस व चिकित्सा प्रशासन द्वारा महावीर भाटिया का तीन चिकित्सकों के मेडिकल बोर्ड जिसमें डॉ. धनराज मधुर, डॉ. अनिल सैनी, डॉ. सुरेश अग्रवाल शामिल थे ने मेडिकल किया.

रुपेश शर्मा ने बताया कि भाटिया का इलाज नहीं करके उल्टा मेडिकल बोर्ड से मेडिकल कराने की मांग को वापस लेने का दबाव बनाना निंदनीय करवाई है. इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे. चिकित्सा विभाग के कर्मचारियों द्वारा पिछले तीन दिन से अस्पताल में भर्ती महावीर भाटिया के घाव पर मरहम पट्टी नहीं की तथा दवा नहीं दी गई है. उल्टा उनसे स्वयं का इलाज कराने की बात कही जा रही है. इसके बाद पुलिस प्रशासन ने मेडिकल बोर्ड से महावीर भाटिया का मेडिकल कराया.

शर्मा ने बताया कि न्याय में देरी होना भी न्याय नहीं मिलने के बराबर है जिसकी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी. इस अवसर पर विश्व हिंदू परिषद नगर अध्यक्ष पितांबर शर्मा, पूर्व वार्ड मेंबर दुर्गालाल कोली, विहिप नगर मंत्री प्रशांत मोदी, सरपंच बुद्धिप्रकाश, गेण्डोली सरपंच मदनलाल गोचर, लंकागेट व्यापार संघ संरक्षक कालू कटारा, पार्षद मुकेश माधवानी, लोकेश गुर्जर, निशांत शर्मा, कविश शर्मा, फूलचंद गुर्जर आदि मौजूद रहे.

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News