आकार लेने लगा ओड़ा क्षेत्र का सबसे बड़ा व ऊंचा रेलवे ब्रिज

उदयपुर (Udaipur). उदयपुर (Udaipur)-अहमदाबाद (Ahmedabad) रेलवे (Railway)मीटर गेज अमान परिवर्तन के कार्य के तहत ओड़ा के सबसे ऊंचे रेलवे (Railway)ब्रिज का कार्य प्रगति पर है. यहां अब ब्रिज के मुख्य खम्भों पर लोहे की सटरिंग लगाना शुरू कर दिया है.

ओड़ा ब्रिज क्षेत्र का सबसे ऊंचा ब्रिज है जिसे भारी लोहे से तैयार होने में दो साल का समय लगा है. इस चुनौतीपूर्ण कार्य को कोटा (kota) की एक कंपनी पूरा करने में जुटी है. रेलवे (Railway)इंजीनियर सिद्धार्थ जैन ने बताया कि पुल की लम्बाई 600 व ऊंचाई 120 फीट करीब है. कंपनी के इंजीनियर वेद प्रकाश ने बताया कि लोह से तैयार 650 टन वजनी पुल को पीलर पर सेट करने में तीन दिन का समय और लगेगा. आधा कार्य हो चुका है. उदयपुर (Udaipur)-बांसवाडा (Banswara) मुख्य मार्ग होने से थानाधिक ारी बाबूलाल मुरारिया जाप्ते के साथ ब्रिज के पीलर पर लोहे की सटरिंग लगाने के दौरान तैनात रहे. बडी संख्या में ग्रामीण भी दूर खड़े होकर पुल को अपने स्थान पर खिसकता हुआ देख कर अचम्भीत हे.

 

Check Also

हिंदुस्तान जिंक प्रतिष्ठित एसएंडपी ग्लोबल प्लैट्स ग्लोबल मेटल अवार्ड से सम्मानित

हिंदुस्तान जिंक को बेस, प्रीशियस एंड स्पेशलिटी मेटल्स इंडस्ट्री लीडरशिप अवार्ड कंपनी 21 देशों के 113 फाइनलिस्ट में विजेता घोषित   एकीकृत जिंक, लेड और सिल्वर की विश्व में सबसे बड़े उत्पादक में से एक कंपनी हिंदुस्तान जिंक, को 14 अक्टूबर, लंदन में एक विशाल हाइब्रिड इवेंट में आयोजित प्रतिष्ठित एस एंड पी ग्लोबल मेटल अवार्ड्स में इंडस्ट्री लीडरशिप अवार्ड – बेस, प्रीशियस एंड स्पेशलिटी मेटल्स पुरस्कार से सम्मानित किया गया. एस एंड पी ग्लोबल प्लैट्स के ग्लोबल मेटल अवार्ड्स के नौवें संस्करण में व्यक्तिगत और कॉर्पोरेट उपलब्धियों में विभिन्न 16 श्रेणियों में धातु उद्योग में सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार से सम्मानित किया. हिंदुस्तान जिंक ने विश्व के 21 देशों में 113 फाइनलिस्ट में से इंडस्ट्री लीडरशिप अवार्ड का  गौरव हासिंल हुआ है.   “हिंदुस्तान जिंक को सम्मानित एसएंडपी ग्लोबल मेटल अवार्ड्स हासिंल होने …