लखीमपुर हिंसा- योगी सरकार ने जांच आयोग गठित किया

लखनऊ (Lucknow) . देश की शीर्ष अदालत ने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में स्वत: संज्ञान लिया है. अदालत ने इस मामले आज सुनवाई करने का फैसला किया जिसमें किसानों के प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोग मारे गए थे. शीर्ष अदालत की वेबसाइट पर अपलोड की गई वाद सूची के अनुसार चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया जज जस्टिस एनवी रमण, जज जस्टिस सूर्यकांत और जज जस्टिस हिमा कोहली की पीठ मामले में गुरुवार (Thursday) को सुनवाई करेगी. लखीमपुर खीरी में हुई घटना के बाद से उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में सियासी घमासान मचा हुआ है और विपक्षी दलों ने राज्य की भाजपा सरकार पर दोषियों को बचाने का आरोप लगाया है.

उधर सोनभद्र पुलिस (Police) ने झारखंड सीमा पर स्वास्थ्य मंत्री, कृषि मंत्री, कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और आधा दर्जन विधायकों को लखीमपुर खीरी जाने से रोक दिया है. अधिकारियों ने कहा कि नेताओं ने सीमा पर हंगामा किया, जिससे सोनभद्र और झारखंड के दोनों ओर दो किलोमीटर से अधिक का ट्रैफिक जाम हो गया. अधिकारियों ने कहा कि ट्रैफिक जाम लगभग 2 बजे शुरू हुआ.

Check Also

रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली पुलिस (Police) ने रेलवे (Railway)में नौकरी दिलाने के नाम …