लखीमपुर हिंसा- आशीष मिश्रा 14 दिन की न्यायायिक हिरासत में भेजे गए जेल, सोमवार को होगी सुनवाई

लखीमपुर खीरी . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर खीरी जिले में हुई हिंसा मामले में छिड़े घमासान के बीच मुख्य आरोपी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को गहन पूछताछ के बाद पुलिस (Police) अधिकारियों ने शनिवार (Saturday) देर रात गिरफ्तार कर 14 दिन की न्यायायिक हिरासत में जेल भेज दिया. पुलिस (Police) ने स्पेशल रिमांड मजिस्ट्रेट दीक्षा भारती की कोर्ट में आशीष से पूछताछ के लिए कस्टडी रिमांड की अर्जी दी. जिस पर सोमवार (Monday) को सुनवाई होगी. जानकारी के मुताबिक आशीष कोहत्या (Murder) , दुर्घटना में मौत, आपराधिक साजिश और लापरवाही से वाहन चलाने की धाराओं में गिरफ्तारी हुई है. बताया जा रहा है कि कस्टडी रिमांड के दौरान आशीष से सख्ती से पूछताछ होगी. कस्टडी रिमांड के दौरान कारतूसों के बारे में सवाल पूछे जाएंगे. वहीं आशीष के अन्य साथियों से भी पूछताछ होगी.

ज्ञात हो कि केंद्रीय मंत्री का बेटा आशीष मिश्रा शनिवार (Saturday) को सुबह 10.38 बजे क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंच गया था. क्राइम ब्रांच की ओर से 11 बजे तक पहुंचने के लिए कहा गया था, लेकिन आशीष समय सीमा खत्म होने से 22 मिनट पहले ही पहुंच गया. ख़ास बात यह रही कि आशीष लखीमपुर खीरी सदर विधानसभा के विधायक योगेश वर्मा के साथ स्कूटर से क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचा. स्कूटर योगेश वर्मा ही चला रहे थे. आशीष मिश्रा पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचे तब पहले से ही वहां एसआईटी की टीम और पुलिस (Police)-प्रशासन के आला अधिकारी मौजूद थे. एसडीएम सदर भी क्राइम ब्रांच के दफ्तर में थे और मजिस्ट्रेट को भी वहां बुला लिया गया था. मजिस्ट्रेट के सामने आशीष मिश्रा का कलमबंद बयान दर्ज कराया गया. उधर एसआईटी ने आशीष मिश्रा के साथ ही अंकित दास और सुमित जायसवाल को भी आरोपी बनाया है. अब दोनों की गिरफ़्तारी के लिए लखीमपुर खीरी से लेकर लखनऊ (Lucknow) तक दबिश डाल रही. जानकारी के मुताबिक जल्द ही दोनों को गिरफ्तार किया जाएगा.

Check Also

गृह मंत्री शाह ने 100 करोड़ टीकाकरण का श्रेय पीएम मोदी को दिया, देशवासियों को दी बधाई

नई दिल्ली (New Delhi) . देश में कोरोना महामारी (Epidemic) से निजात दिलाने के लिए …