दिल्ली में 24 हजार कोरोना केस आए तो केजरीवाल ने कहा स्थिति गंभीर और चिंताजनक


नई दिल्ली (New Delhi) . पिछले 24 घंटे में दिल्ली में लगभग 24 हजार कोरोना के केस आए. यह अब तक के सबसे ज़्यादा केस हैं. इससे पहले 19,500 थे अब 24 हजार हो गए. पॉजिटिविटी रेट 24 फ़ीसदी से ज्यादा हो गया है. इन आकड़ों पर मुख्यमंत्री (Chief Minister) अरविन्द केजरीवाल का कहना है कि स्थिति काफी गंभीर और चिंताजनक है, दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी है, रेमडेसिविर की कमी है, मामले बहुत ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं इस वजह से इन सारी चीजों की कमी हो रही है, जबकि कुछ दिन पहले तक हमें लग रहा था कि स्थिति ठीक है.

केजरीवाल ने कहा “किसी भी हेल्थ इंफस्ट्रक्चर की सीमाएं हैं. बेड बहुत तेजी के साथ भर रहे हैं. सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि बेड की संख्या और ज्यादा बढ़ाई जाए. पिछले कुछ दिनों में कई बार बेड की संख्या बढ़ाई गई और बेड की कमी नहीं होने दी गई. आने वाले कुछ दिनों में बेड और बढ़ाने के लिए और कदम उठा रहे हैं.”

दिल्ली के मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा, “कई जगहों से शिकायतें आ रही हैं कि टेस्ट के नतीजे आने में 3 से 4 दिन लग रहे हैं. इसका कारण यह है कि कुछ लैब ने अपनी क्षमता से 3 से 4 गुना (guna) ज्यादा सैंपल लेना शुरू कर दिया है. ऐसी लैब के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी जो अपनी क्षमता से ज्यादा सैंपल ले रहे हैं. जो लैब 24 घंटे में रिपोर्ट नहीं दे रही उन पर कार्रवाई का निर्देश जिलाधिकारियों को दिया गया है.”  दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी, रेमडेसिविर, फैबिफ्लू जैसी दवाओं की कमी है. टॉसिलजुमैबकी किल्लत हो रही है. केजरीवाल ने कहा कि अफसरों की मीटिंग में यह निर्देश दिए गए हैं कि अगर कहीं दवाइयों की होल्डिंग या कालाबाजारी हो रही है तो सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा, “हम पूरी कोशिश करेंगे कि जिस मरीज को ऑक्सीजन की दिक्कत है उसको ऑक्सीजन मिलती रहे. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा, जितने ज्यादा से ज्यादा नए बेड लगा रहे हैं हमारी कोशिश है उसमें ऑक्सीजन की व्यवस्था की जाए. राधास्वामी में 2500 बेड का इंतजाम कर रहे हैं. होटल (Hotel) और बैंक्वेट हॉल को किस तरह से हॉस्पिटल के साथ अटैच कर रहे हैं. 2100 के करीब ऑक्सीजन बेड इस व्यवस्था से बढ़ जाएंगे. यह सब हॉस्पिटल की निगरानी में होगा. अगले 2 से 4 दिन में 6000 और बेड जोड़ने में हम सक्षम होंगे ऐसी उम्मीद है. लेकिन जिस तेजी से यह कोरोना बढ़ रहा है किसी को नहीं पता कि इसकी पीक कहां होगी.”

केजरीवाल ने कहा, “थोड़ी देर पहले मैंने डॉक्टर (doctor) हर्षवर्धन से फोन पर बात की और उनसे निवेदन किया कि दिल्ली के अंदर बेड्स की कमी हो रही है. नवंबर में 4100 बेड केंद्र सरकार (Central Government)ने दिए थे, इस बार 1800 हैं जबकि इस बार कई गुना (guna) बड़ी पीक है.लिहाजा निवेदन किया गया है कि केंद्र सरकार (Central Government)के अस्पताल में 10,000 बेड हैं उनमें से कम से कम 5,000 बेड दिए जाएं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को बताया गया है कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी हो रही है और खासतौर से प्राइवेट अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी हो रही है. केंद्र सरकार (Central Government)से पहले भी मदद मिली है इस बार भी उम्मीद करता हूं कि ने सरकार हमारी मदद करेगी. “

Check Also

84 की उम्र में श्रीमती शारदा ने दी कोरोना को मात

सुकमा, . कोरोना संक्रमित हो जाने पर थोड़ी घबराहट और मानसिक तौर पर विचलित होना …