हजारीबाग, 4 अप्रैल . लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद गुरुवार को हजारीबाग में झारखंड मुक्ति मोर्चा की ओर से आयोजित पहली जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम हेमंत सोरेन की पत्‍नी कल्पना सोरेन ने कहा कि आने वाले चुनाव में जनता झारखंड विरोधी तानाशाही ताकतों को मुंहतोड़ जवाब देगी.

यह जनसभा झारखंड मुक्ति मोर्चा के स्थापना दिवस के मौके पर शहर के मटवारी स्थित गांधी मैदान में आयोजित की गई थी. उन्होंने कहा, “हेमंत जी सभी वर्गों के कल्याण के लिए काम कर रहे थे, मगर पिछले दो महीनों से तानाशाही ताकतों ने उन्हें आपसे दूर रखा है.”

कल्पना सोरेन ने जनसभा में बतौर मुख्य वक्ता, कहा कि झारखंड में पहले भी सरकारें रहीं और अधिकतम समय भाजपा ने ही सरकार चलाई. मगर, जब एक आदिवासी और संवेदनशील मुख्यमंत्री ने सरकार चलाना शुरू किया, कोरोना जैसे विकट समय में भी अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों की सेवा की, तो विपक्ष को परेशानी हो गई. भाजपा की सरकारों ने झारखंड के साथ हमेशा सौतेला व्यवहार किया है.

झामुमो को संघर्षों की पार्टी बताते हुए कल्पना ने कहा, “खून-पसीना बहाकर हमारे वीर पूर्वजों ने जल-जंगल-जमीन की रक्षा और अलग झारखंड राज्य के लिए आंदोलन किया था. दिशोम गुरु शिबू सोरेन ने नंगे पांव महाजनों के शोषण के खिलाफ आंदोलन किया था. हेमंत जी को वही जज़्बा गुरुजी से मिला है. हमारे डीएनए में नहीं है कि हम झुक जाएं.”

जनसभा को झारखंड सरकार के मंत्री मिथिलेश ठाकुर, राज्यसभा सांसद महुआ माजी सहित कई नेताओं ने संबोधित किया.

एसएनसी/एबीएम