हार्ट के मरीजों को शारीरिक गतिविधि करना बेहद जरूरी

नई दिल्ली (New Delhi) . हार्ट की समस्या वाले लोगों को शारीरिक गतिविधि करना बहुत जरूरी है. वॉक करने से शरीर स्वस्थ होने के साथ-साथ हार्ट अटैक आने की आशंका कम होती है. हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज यानी मधुमेह से ग्रसित लोगों में हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा रहता है. इसके अलावा अगर आप हार्ट के पेशेंट हैं, तो आपको रोजाना जरूर टहलना चाहिए.

अगर दिल के मरीज हैं तो सबसे पहले अपने डॉक्टर (doctor) से बात करिए. उसके बाद में ही कोई एक्सरसाइज या योग शुरू करें. इसके लिए जरूरी है कि डॉक्टर (doctor) की पहले सलाह ली जाए. आपकी अवस्था को देखते हुए डॉक्टर (doctor) बताएंगे कौन सी एक्सरसाइज या व्यायाम आपकी सेहत के लिए अच्छा है. अगर आपको हृदय की बीमारी है तो डॉक्टरों (Doctors) की सलाह पर शारीरिक गतिविधियों में हिस्सा लें. इन गतिविधियों से दिल की बीमारी में सुधार होता है. एक्सरसाइज से आपका ब्लड प्रेशर भी कम होगा, कोलेस्ट्रॉल कम होगा साथ ही डायबिटीज भी नियंत्रण में रहेगी. एरोबिक्स करें, इससे हार्ट और फेफड़े दोनों अच्छी तरीके से काम करते हैं. हृदय का रक्त संचार बेहतर होता है. लेकिन हमेशा ध्यान रखें कि शुरुआत बहुत भारी भरकम व्यायाम के साथ ना हो. स्विमिंग भी कर सकते हैं लेकिन बहुत ज्यादा प्रेशर नहीं आना चाहिए. हफ्ते में तीन से चार बार कोई भी व्यायाम करें लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि लाइट एक्सरसाइज ही करें.कोई भी व्यायाम करने के पहले स्ट्रेचिंग बेहद जरूरी है. इसके अलावा एक्सरसाइज खत्म करने के बाद में कूल डाउन करना बिल्कुल ना भूलें.

किसी भी तरह की एक्सरसाइज करने के दौरान अगर आपको सिर में दर्द, सीने में दर्द, चक्कर या सांस लेने में समस्या हो रही है, तो तुरंत उसे करना बंद करें और अपने डॉक्टर (doctor) से तत्काल संपर्क करें. इस अध्ययन में करीब 88320 लोग शामिल थे. जिनकी जीवन शैली में शारीरिक गतिविधि को शामिल किया गया. जिसमें पाया गया शारीरिक गतिविधि यानी कि व्यायाम करने वाले, टहलने वाले लोगों में हार्ट अटैक का खतरा कम था.

Check Also

अस्थमा के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज

(लेखक- विद्यावाचस्पति डॉक्टर (doctor) अरविन्द प्रेमचंद जैन / ) दमा फेफड़ों की ऐसी बीमारी होती …