इजरायल की सरजमीं पर अपना दम दिखा रहे भारत के मिराज फाइटर जेट

तेलअवीव . भारतीय वायुसेना की शक्ति को लोहा दुनिया मानती है. भारत के मिराज-2000 विमान इजरायल की सरजमीं पर अपना दम दिखा रहे हैं. भारतीय मिराज-2000 विमानों के साथ फ्रांसीसी राफेल फाइटर भी इस अभ्‍यास में हिस्‍सा ले रहे हैं. इजरायल में चल रहे ब्‍लू फ्लैग 2021 इंटरनेशनल युद्धाभ्‍यास में दुनिया के कुल 7 देश हिस्‍सा ले रहे हैं. इनमें जर्मनी, इटली, ब्रिटेन, फ्रांस, ग्रीस और अमेरिका के फाइटर भी शामिल हैं. ऐसा पहली बार है कि भारतीय मिराज विमान और फ्रांस के राफेल जेट एक साथ हिस्‍सा ले रहे हैं. यरुशलम पोस्‍ट की रिपोर्ट के मुताबिक यह अभ्‍यास अभी 28 अक्‍टूबर तक चलेगा. इजरायल में अब तक हुए युद्धाभ्‍यास में यह सबसे बड़ा और आधुनिक हवाई अभ्‍यास है. इजरायल के गठन के बाद ऐसा पहली बार हुआ है कि ब्रिटिश युद्धक विमान इजरायल की धरती पर उतरे हैं.

इस अभ्यास की शुरूआत रविवार (Sunday) को मानद फ्लाईओवर के साथ हुई, जिसका नेतृत्व एफ-15 में इजरायली वायु सेना के कमांडर अमीकम नोरकिन के नेतृत्व में एक इजरायली ‘अदिर’, एफ-35 स्टील्थ जेट के इजरायली वर्जन के साथ किया गया. इजरायल की वायुसेना के प्रमुख ने कहा कि हम एक जटिल इलाके में रह रहे हैं. इजरायल को गाजा, लेबनान, सीरिया और ईरान हर तरफ से खतरा है और यह लगातार बढ़ रहा है.’ उन्‍होंने कहा कि आसपास के इलाकों में खुफिया कार्रवाई करते हुए यह अभ्‍यास करवाना इजरायली वायुसेना के लिए रणनीतिक महत्‍व का है. इस साल ब्‍लू फ्लैग अभ्‍यास का मकसद जटिल माहौल में चौथी और पांचवीं पीढ़ी के फाइटर जेट का एकीकरण है. दुनियाभर में अब पांचवीं पीढ़ी के विमानों का इस्‍तेमाल बढ़ रहा है और इस अभ्‍यास के जरिए ऐसे विमानों के साथ मिलकर जंग लड़ने का तरीका सीखा जाएगा. भारतीय वायुसेना ने नवंबर 2017 में पहली बार इजरायल के साथ द्विपक्षीय युद्धाभ्‍यास में हिस्‍सा लिया था.
 

Check Also

चीन में गिरी जन्मदर, युवाओं की घटी शादी कर बच्चे पैदा करने में दिलचस्पी

बीजिंग . चीन में गिरती जन्म दर के अलावा शादी करने और बच्चे पैदा करने …