राजनीतिक उठापटक के बीच आयकर टीम ने सीएम गहलोत के बेटे के करीबी पर की छापामार कार्रवाई · Indias News

राजनीतिक उठापटक के बीच आयकर टीम ने सीएम गहलोत के बेटे के करीबी पर की छापामार कार्रवाई


कोटा. राजस्थान (Rajasthan) की राजनीति में सीएम अशोक गेहलोत बनाम सचिन पायलट घमासान के बीच आयकर विभाग ने पड़ी कार्रवाई की है. प्रदेशभर के कई जिलों के अलावा राजधानी जयपुर (jaipur), दिल्ली और मुंबई (Mumbai) में भी विभाग की टीमों ने कार्रवाई की है. खास बात यह है कि विभाग की ओर से जो कार्रवाई की गई है, उसके तार सियासत के साथ जोड़कर देखे जा रहे हैं. आपको बता दें कि लगातार दूसरे दिन भी सक्रिय दिखाई दे रही आयकर की टीम ने अब तक जयपुर (jaipur) में 20, कोटा में छह और दिल्ली के आठ, मुंबई (Mumbai) में 9 जगह मारे हैं. इस छापों की कार्रवाई को मुख्य रूप से कोटा और जयपुर (jaipur) से जोड़कर देखा जा रहा है. जहां जयपुर (jaipur) में अजमेरा नाम के व्यवसायी पर छापा के ठिकानों पर आईटी की टीम ने कार्रवाई की है. वहीं इसके साथ ही कोटा में आयकर विभाग की 6 टीमों ने नामी ओम कोठारी ग्रुप के चार ठिकानों पर छापामार सर्वे की कार्रवाई की है, जो मंगलवार (Tuesday) को भी जारी है. आयकर विभाग की टीम कोटा, दिल्ली, मुंबई (Mumbai) और जयपुर (jaipur) में भी अपनी नजर बनाए हुए है.

आयकर विभाग के सूत्रों के मुताबिक कोटा में कोटा संभाग उदयपुर (Udaipur) संभाग वह जयपुर (jaipur) संभाग की संयुक्त टीमों के द्वारा आयकर छापामार सर्वे की कार्रवाई की जा रही है. इस कार्रवाई में आयकर विभाग के अधिकारी व कार्मिक और सुरक्षाकर्मी सहित करीब 50 के आसपास का स्टाफ टूटा हुआ है. कोटा का ओम कोठारी ग्रुप जो रियल एस्टेट का बड़ा कारोबारी है. मैनेजमेंट शिक्षण संस्थान भी इस ग्रुप के हैं. यह कार्रवाई सोमवार (Monday) से कोटा में चार ठिकानों पर जारी है साथ ही कोटा, दिल्ली, मुंबई (Mumbai), जयपुर (jaipur) में ग्रुप के ठिकानों पर आयकर विभाग की ओर से छापामार सर्वे कार्रवाई की जा रही है. कोटा में यह कार्रवाई कोटा झालावाड़ रोड स्थित ग्रुप के ठिकानों पर चल रही है.

फिलहाल आयकर विभाग के अधिकारी कुछ भी बताने से इनकार कर रहे हैं. जबकि सूत्रों के मुताबिक विभाग ने ग्रुप के कई दस्तावेज जप्त किए हैं. बताया जा रहा है कि इस कार्रवाई का खुलासा आयकर विभाग जयपुर (jaipur) में करेगा. आयकर विभाग की छापामार सर्वे की कार्रवाई कब तक चलेगी इस बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता. सूत्र बताते हैं कि ओम कोठारी ग्रुप जो रियल एस्टेट का बड़ा कारोबारी है. मैनेजमेंट शैक्षणिक संस्थान संचालित करता है. इस ग्रुप में मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के बेटे व राजस्थान (Rajasthan) क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष वैभव गहलोत के पार्टनर बताए गए हैं. ऐसे में इस पूरी कार्रवाई को राजस्थान (Rajasthan) में पिछले 4 दिनों से चल रहे सुबह की सियासत की उथल-पुथल से सीधा जोड़कर देखा जा रहा है.

Check Also

घोल कलयुग : 23 साल के पिता पर 6 साल की बेटी से रेप का आरोप, आरोपी की पत्नी रहती है मायके में

शिमला (Shimla). हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला (Shimla) में छह साल की बच्ची …