सुस्त रह सकती है दवा कंपनियों की आय

मुंबई . दिसंबर तिमाही में दवा कंपनियों की आय की रफ्तार सुस्त रहने का अनुमान है. इसकी मुख्य वजह अमेरिकी खाद्य व दवा प्रशासन के साथ जारी मसले हैं. भारतीय दवा कंपनियों के लिए अमेरिका सबसे महत्वपूर्ण निर्यात बाजार है. भारतीय बाजार की रफ्तार हालांकि स्थिर रही है और उनके मार्जिन में मजबूती की संभावना है. विश्लेषकों का मानना है कि अग्रणी कंपनियां एक साल पहले के मुकाबले बिक्री में पांच फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज करेंगी. सालाना आधार पर आय की रफ्तार दिसंबर तिमाही में एक फीसदी रहेगी. इसकी तुलना में देसी बिक्री में एक साल पहले के मुकाबले करीब 9 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है, जिसकी वजह कीमत में हुई बढ़ोतरी है. बिक्री की यह रफ्तार सितंबर तिमाही के मुकाबले घट सकती है.

Check Also

गणतंत्र दिवस समारोह के चीफ गेस्ट होंगे ब्राजील के राष्ट्रपति

नई दिल्ली.गणतंत्र दिवस समारोह में बतौर विशेष अतिथि शामिल होने के लिए ब्राजील के राष्ट्रपति …