विरोध प्रदर्शन को देखते हुए अब किसानों से मिलेंगे केंद्रीय मंत्री – indias.news

चंडीगढ़, 12 फरवरी . राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पंजाब और हरियाणा के किसानों के व्यापक विरोध प्रदर्शन को देखते हुए केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल सहित तीन केंद्रीय मंत्री किसानों के मौजूदा समस्या का निपटारा करने के लिए सोमवार को चंडीगढ़ में किसान संगठनों से मिलेंगे.

इससे पहले 8 फरवरी को इस विषय पर विस्तृत वार्ता हुई थी.

बता दें कि किसान केंद्र सरकार द्वारा किए गए वादों को पूरा करने की मांग साल 2021 से कर रहे हैं. दरअसल, सरकार ने किसानों से तीन वादे किए थे, जिसमें फसलों पर ‘न्यूनतम समर्थन मूल्य’, ‘स्वामीनाथन कमीशन’ की सिफारिशों को लागू करना, ‘कृषि ऋण माफी’ और पुलिस द्वारा दर्ज केसों को वापस लेना शामिल है, लेकिन अभी तक इन मांगों को पूरा नहीं किया गया है, जिसे ध्यान में रखते हुए अब किसानों ने दिल्ली कूच का फैसला किया है.

अब अपनी इन्हीं मांगों को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा और किसान मजदूर मोर्चा के बैनर तले लगभग 200 किसान संगठन आगामी मंगलवार को ‘दिल्ली चलो अभियान’ की शुरुआत करेंगे.

वहीं, पीयूष गोयल के अलावा अन्य केंद्रीय मंत्री भी किसान संगठनों से मुलाकात करेंगे, जिसमें कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय शामिल हैंं. इससे पहले भी केंद्रीय मंत्रियों की किसानों संग मुलाकात हुई थी, जिसमें पंजाब के सीएम भगवंंत मान ने मध्यस्थता की भूमिका निभाई थी.

भारतीय किसान यूनियन के नेता जगजीत सिंह डल्लेव ने कहा, ”अभी हम प्रदर्शन, मार्च और मांगों को लेकर बनाई गई योजनाओं पर कायम हैं.”

इस बीच किसानों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए सभी राष्ट्रीय राजमार्गों पर बड़ी संख्या में पुलिसबलों की तैनाती कर दी गई है. सोमवार को यात्रियों को हरियाणा में प्रवेश करने के लिए गांव वाले रूट का इस्तेमाल करना होगा.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ”किसानों के विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर सुरक्षा के सभी पर्याप्त इंतजाम कर लिए गए हैं, ताकि कोई भी अप्रिय घटना ना घट सकें.”

वहीं, पंजाब-हरियाणा की सीमाओं पर बैरिकेड, कंटीले तार और लोहे की कील लगा दिए हैं, ताकि किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति ना घटे. हालांकि, ट्रैफिक जाम की समस्या देखने को मिल रही है. वहीं, सभी संवेदनशील स्थानों पर बड़ी संख्या में अर्धसैनिकों बलों की तैनाती बढ़ा दी गई है, ताकि किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना ना घट सके.

बता दें कि किसानों ने पटियाला के शम्भू बॉर्डर सेे हरियाणा में घुसने की योजना बनाई है. हालांकि, हरियाणा पुलिस ने सभी सीमाओं को बंद कर दिया है.

दिल्ली में विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए सिंघू, गाज़ीपुर और टिकरी बॉर्डर पर भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

एसएचके/