बांग्लादेश में हिंदुओं पर हमले को लेकर एक्शन में पीएम हसीना, गृहमंत्री को दिए तुरंत कार्रवाई करने के निर्देश

ढाका . बांग्लादेश में हिंदुओं के ऊपर हुए हिंसक हमलों को रोक पाने में असफल रहने पर प्रधानमंत्री शेख हसीना ने नाराजगी जताई है. उन्होंने बांग्लादेश के गृहमंत्री असदुज्जमान खान को धर्म का इस्तेमाल कर हिंसा भड़काने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है. बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने लोगों से तथ्यों की जांच किए बगैर सोशल मीडिया (Media) पर चल रही किसी भी चीज पर विश्वास नहीं करने की अपील की.

विदेश मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा कि 50 साल पहले पाकिस्तान से बांग्लादेश की आजादी का विरोध करने वाले घरेलू तत्व अब भी हिंसा भड़काने के लिए जहर उगल रहे हैं. नफरत भरे विमर्श और पाखंड फैला रहे हैं.

कैबिनेट सचिव अनवारूल इस्लाम ने बताया कि प्रधानमंत्री हसीना ने साप्ताहिक कैबिनेट बैठक के दौरान गृहमंत्री असदुज्जमान खान को उन लोगों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई शुरू करने का निर्देश दिया है, जिन्होंने धर्म का इस्तेमाल कर हिंसा भड़काई थी. उल्लेखनीय है कि पिछले बुधवार (Wednesday) से बांग्लादेश में हिंदुओं के मंदिरों पर हमले बढ़ गए हैं. इससे पहले दुर्गा पूजा समारोहों के दौरान सोशल मीडिया (Media) पर कथित तौर पर ईश निंदा करने वाला एक पोस्ट देखने को मिला था. इसके बाद साम्प्रदायिक हिंसा भड़क उठी थी. इस दौरान कई मंदिरों में उपद्रव किया गया दुर्गापंडालों में तोड़फोड़ की गई. ईस्कान मंदिर के एक भक्त की हिंसक भीड़ नेहत्या (Murder) कर दी और 66 मकानों को आग के हवाले कर दिया गया.

अपने आधिकारिक आवास से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक में शामिल हुई प्रधानमंत्री शेख हसीना ने देश के लोगों से तथ्यों की जांच किए बगैर सोशल मीडिया (Media) पर किसी भी चीज पर विश्वास नहीं करने की अपील की है. उन्होंने गृह मंत्रालय (Home Ministry) को सतर्क रहने और ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया है.

स्थानीय मीडिया (Media) की खबरों के मुताबिक अलग-अलग हमलों में हिंदू समुदाय के छह लोग मारे गए हैं, लेकिन इस आंकड़े की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं की जा सकी है. गृहमंत्री ने कहा कि कोमिला घटना की जांच की जा रही है. गृह मंत्रालय (Home Ministry) आरोपियों को न्याय के दायरे में लाने के लिए काम कर रहा है. हसीना ने पीड़ित परिवारों को हर संभव सहायता मुहैया करने की घोषणा की है. पुलिस (Police) प्रवक्ता ने बताया कि इन घटनाओं को लेकर कुल 71 मामले दर्ज किए गए हैं और अब तक 450 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. बाकी लोगों को गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

Check Also

संविधान दिवस का विपक्ष ने किया बहिष्कार पीएम मोदी ने जमकर किया पलटवार

नई दिल्ली (New Delhi) . संविधान दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister …