जयपुर में मौंग्या गैंग ने कुल्हाड़ी से दोनों पैर काटकर महिला से लूटे चांदी के कड़े

जयपुर (jaipur) . राजस्थान (Rajasthan) की राजधानी जयपुर (jaipur)में एक बार फिर लूट औरहत्या (Murder) की दर्दनाक घटना सामने आई है. मामला जयपुर (jaipur)से 40 किलोमीटर दूर जमवारामगढ थाना क्षेत्र का है. यहां खेतहपुरा गांव में लूट के लिए दिन दहाड़े एक विवाहिता कीहत्या (Murder) कर दी गई. लुटेरों ने विवाहिता गीता देवी के दोनों पैर कुल्हाड़ी से काट दिए और चांदी (Silver) कड़े लूट कर ले गए.
ऐसी दिल को दहला देने वाली वारदातें जयपुर (jaipur)के आसपास पहले भी हो चुकी हैं. सूचना मिलने पर जमवारामगढ थाना पुलिस (Police) मौके पर पहुंची. मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई. घटना स्थल के हालात देखकर लगता है कि लुटेरों ने पहले गीता देवी के सिर पर कुल्हाड़ी से वार करकेहत्या (Murder) की. बाद दोनों पैर काटे और पैरों में पहने चांदी (Silver) के कड़े लूट कर ले गए. गीता देवी के परिजनों के मुताबिक गीता के गले में सोने का जंतर और कानों में सोने के कुंडल भी थे. पुलिस (Police) लुटेरों की तलाश में जुटी है.
राजस्थान (Rajasthan) के टोंक जिले के सुनसान इलाकों में एक खानाबदोश जाति रहती है, जिसका नाम है मौंग्या. यह जातिहत्या (Murder) करके लूट की वारदातों को अंजाम देने के लिए कुख्यात है. इस गैंग के लुटेरे कभी कभार ही पुलिस (Police) की गिरफ्त में आते हैं. वर्ष 2018 में मौंग्या जाति के 5 लुटेरे जयपुर (jaipur)पुलिस (Police) की गिरफ्त में आए थे. उस दौरान पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए. उन लुटेरों के मुताबिक लूट की वारदात के लिएहत्या (Murder) करने में उन्हें जरा भी संकोच नहीं होता. पीड़ित के विरोध करने से पहले ही वे उसकीहत्या (Murder) कर देते हैं और आराम से आभूषण लूट लेते हैं.

लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए मौंग्या गैंग के सदस्य इसे दैवीय वरदान मानते हैं. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि जब इस गैंग के सदस्य किसी कीहत्या (Murder) करके आभूषण लूटकर घर जाते हैं, तो परिवार की महिलाएं जश्न मनाती है. इस गैंग के सदस्यों का मानना है कि वे सिर्फ यही करने के लिए पैदा हुए हैं. ऐसे में उन्हेंहत्या (Murder) करने में रहम नहीं आता. इन वारदातों में नाबालिग सदस्य भी सक्रिय रूप से शामिल होते हैं.

Check Also

ताइवान में अनुकूल परिस्थितियों से बुजुर्गों के जीवन में आया सुख-संतोष, औसत उम्र बढ़ी

  ताइपे . ताइवान के लोग पहले की तुलना में लंबा जीवन जी रहे हैं …