आईएमएफ ने पाकिस्तान को कड़े शब्दों में कहा- बिजली दरें और टैक्स बढ़ाओ

इस्लामाबाद . आर्थिक मंदहाली व महंगाई की मार से जूझ रहे पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने तगड़ा झटका दिया है. आईएमएफ ने पाकिस्तान को कड़े शब्दों में इंकम टैक्स और बिजली शुल्क बढ़ाने की मांग की है. जानकारी के मुता‎बिक आईएमएफ अधिकारियों और पाकिस्तान के बीच 1 बिलियन अमरीकी डालर की ऋण किस्त जारी करने को लेकर हुई वर्चुअल मीटिंग में आईएमएफ ने पाकिस्तान की सरकार को कहा है कि वो पहले देश में बिजली की दरों को बढ़ाए. रिपोर्ट के मुताबिक आईएमफ ने कहा कि बिजली की दरों में 1.40 रुपए प्रति यूनिट की बढ़ोतरी की जानी चाहिए. पाकिस्तान की सरकार को सिर्फ बिजली बिल ही बढ़ाने के लिए नहीं कहा बल्कि देश में इंकम टैक्स, सेल्स टैक्स और रेगुलेटरी ड्यूटी कलेक्शन बढ़ाने के लिए कदम उठाने को कहा है. आईएमएफ व पा‎किस्तान की फेडरल बोर्ड ऑफ रेवेन्यू ने इस संदर्भ में तीन दिन वर्चुअल वार्ता की है. आईएमएफ द्वारा 1 बिलियन अमरीकी डालर की ऋण किस्त के लिए बातचीत चल रही है और यह यह बातचीत इस हफ्ते भी जारी रहने वाली है. स्टेट बैंक (Bank) ऑफ पाकिस्तान ने बताया कि अगस्त में देश को विशेष आहरण अधिकार आबंटन के हिस्से के रूप में आईएमएफ से 2.75 बिलियन अमरीकी डालर प्राप्त हुए हैं. बता दें कि अफगानिस्तान में एक डॉलर (Dollar) की कीमत 171 पाकिस्तानी रुपए के बराबर हो चुकी है. ऐसे में आप पाकिस्तान में महंगाई की क्या स्थिति हो सकती है, इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है.

Check Also

येदियुरप्पा का कर्नाटक बीजेपी अध्यक्ष को नसीहत

नई दिल्ली (New Delhi) .कर्नाटक (Karnataka) के पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) बी एस येदियुरप्पा ने …