टिकट कंफर्म नहीं तो अब मिनटों में पैसा होगा वापस, IRCTC का पेमेंट गेटवे शुरू


नई दिल्ली (New Delhi) . आईआरसीटीसी ने यात्रियों (Passengers) की सुविधा को देखते हुए अपनी वेबसाइट को अपग्रेड करने के साथ ही अपना पमेंट गेटवे भी शुरू कर दिया है. इससे थर्ड पार्टी के पेमेंट गेटवे से निर्भरता खत्म हो जाएगी. वहीं टिकट बुक करने के लिए किसी बैंक (Bank) के पेमेंट गेटवे पर भुगतान में लगने वाले समय की बचत होगी. इसके अलावा अगर कोई यात्री अपना टिकट रद्द करता है तो उसका रिफंड भी तुंरत खाते में आ जाएगा.

आईआरसीटीसी iPay के तहत आईआरसीटीसी वेबसाइट और मोबाइल एप का उपयोग करने वालों को तत्काल पैसे रिफंड करने का एक फीचर शुरू किया गया है. इस सुविधा में एक यूजर को अपने यूपीआई बैंक (Bank) खाते या भुगतान के अन्य साधनों से डेबिट के लिए सिर्फ एक बार ही मेनडेट देना होगा. फिर वह पेमेंट इंस्ट्रूमेंट आगे के ट्रांजेक्शन के लिए अधिकृत हो जाएगा. आईआरसीटीसी की इस ऑटोपे सुविधा होने से टिकट बुकिंग प्रकिया तेज हो जाएगी. अगर किसी परिस्थिति में टिकट कैंसिल भी होता है तो यात्री के खाते में तुरंत ही रिफंड भी आ जाएगा. इसके बाद यात्रियों (Passengers) को रिफंड के लिए तीन से चार दिन का इंतजार नहीं करना पड़ेगा.

आईआरसीटीसी का कहना है कि प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के विजन के तहत उसने अपने यूजर इंटरफेस को अपग्रेड किया है. तभी यह इंटरनेट टिकटिंग वेबसाइट एशिया पैसिफिक की सबसे बड़ी ई.कॉमर्स वेबसाइटों में से एक हो गई है. चूंकि, इस पर भारतीय रेलवे (Railway)के कुल रिजर्व टिकटों का 83 फीसदी बुक होता है, इसलिए इसमें और भी सुधार हो रहा है. अब एक कदम आगे बढ़ते हुए आईआरसीटसी आईपे की शुरुआत की गई है.

Check Also

सागर में तीसरे दिन घटी कोरोना संक्रमितों की संख्या

कलेक्‍टर दीपक सिंह की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव, काम पर लौटे सागर . जिले में आज …