केवल जरूरी मामलों की अदालत में होगी सुनवाई : हाईकोर्ट


नई दिल्ली (New Delhi) . राजधानी में कोरोना संक्रमण के बेतहासा बढ़ोतरी को देखते हुए उच्च न्यायालय ने 19 अप्रैल से वर्ष 2021 में दाखिल सिर्फ अति आवश्यक मामलों की सुनवाई करेगा. उच्च न्यायालय ने प्रशासन ने इस आशय का फैसला लिया है. उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल मनोज जैन की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि अन्य लंबित नियमित या गैर-जरूरी मामले और 22 मार्च, 2020 से 31 दिसंबर, 2020 के बीच न्यायालय में दाखिल या सूचीबद्ध मामलों पर अभी सुनवाई नहीं होगी.

उच्च न्यायालय ने यह भी कहा है कि 22 मार्च 2020 से 31 दिसंबर, 2020 तक दाखिल सभी मामलों की सुनवाई सामूहिक रूप से स्थगित कर दी जाएगी. उच्च न्यायालय ने कहा है कि यदि इनमें से किसी मामले तत्काल सुनवाई की कोई जरूरत होने पर पक्षकारों द्वारा पहले से जारी लिंक पर आग्रह किया जा सकता है. जैन ने अपने आदेश में कहा है कि राजधानी में कोरोना संक्रमण के अत्याधिक बढ़ोतरी को देखते हुए ‘यह आदेश दिया गया है कि इस अदालत की सभी पीठें वर्ष 2021 में दाखिल अत्यंत जरूरी मामलों को ही सुनवाई करेगी और. यह आदेश 19 अप्रैल, 2021 से ही प्रभावी होगा. राजधानी में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है. उच्च न्यायालय ने मुख्य न्यायाधीश (judge) डी.एन. पटेल व तीन अन्य न्यायाधीश (judge) भी इससे संक्रमित हो गए हैं.

Check Also

कोविड अस्पतालों में पर्याप्त बेडों ऑक्सीजन आदि सहित मूलभूत सुविधाएं रखें दुरूस्त:- नोडल अधिकारी

रायबरेली -जनपद के नामित नोडल अधिकारी/अपर मुख्य सचिव, सहकारिता विभाग उ0प्र0 शासन एम0वी0एस0 रामी रेड्डी …