साल-2020 में आईटी उद्योग पर वैश्विक खर्च 3,900 अरब डॉलर होने की संभावना : गार्टनर

बेंगलुरु . दुनिया में सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) इंडस्ट्री के बढ़ते कदमों से इसके खर्च में भी बढ़ोतरी होने की संभावना है. इसका वैश्विक खर्च 2020 में इससे पिछले साल की तुलना में 3.4 प्रतिशत बढ़कर 3,900 अरब डॉलर पर पहुंच सकता है. शोध एवं परामर्श देने वाली वैश्विक कंपनी गार्टनर ने यह अनुमान व्यक्त किया है. गार्टनर के अनुसार, 2021 में वैश्विक कंपनियों का आईटी खर्च बढ़कर चार हजार अरब डॉलर के पार जा सकता है.

गार्टनर के उपाध्यक्ष (शोध) जॉन-डेविड लवलॉक ने बयान में कहा, ‘राजनीतिक अनिश्चितताओं ने वैश्विक अर्थव्यवस्था को मंदी की ओर धकेला, हालांकि 2019 में मंदी नहीं आई और 2020 या इसके बाद भी मंदी की आशंका नहीं है.’ उन्होंने कहा, ‘वैश्विक स्तर पर अनिश्चितताएं दूर होने की वजह से अब आईटी कंपनियों का निवेश बढ़ने लगा है, लेकिन खर्च के तरीके में लगातार बदलाव हो रहा है.’ लवलॉक ने कहा कि इस साल सॉफ्टवेयर में सर्वाधिक तेजी रहेगी और सॉफ्टवेयर पर खर्च की वृद्धि दर 10.5 प्रतिशत पर पहुंच सकती है.

गार्टनर ने कहा कि क्लाउड संबंधी सेवाओं पर कंपनियों का आईटी खर्च पारंपरिक आईटी खर्च की तुलना में तेजी से बढ़ेगा. उन्होंने कहा कि डॉलर के मजबूत होने से इससे प्रभावित होने वाले देशों में उपकरणों तथा डेटा सेंटर के उपकरणों पर आईटी खर्च प्रभावित हो सकता है. लवलॉक ने कहा, ‘उदाहरण के लिये, डॉलर के मजबूत होने से जापान में मोबाइल फोन की औसत स्थानीय कीमतें बढ़ेंगी, इससे जापान में मोबाइल फोन पर होने वाला आईटी खर्च इस साल कम हो सकता है. ब्रिटेन में पर्सनल कंप्यूटर, प्रिंटर, सर्वर और बाह्य स्टोरेज डिवाइसों पर खर्च में इस साल तीन प्रतिशत तक की गिरावट आ सकती है.’

Check Also

मुंबई में महिला से सामूहिक बलात्कार, 4 गिरफ्तार, मध्य प्रदेश जाने के लिए जा रही थी ट्रेन पकड़ने

मुंबई, . मुंबई के कुर्ला इलाके में एक महिला के साथ सामूहिक बलात्कार का सनसनीखेज …