पंचतत्व में विलीन हुए गजेंद्र शक्तावत

अजमेर . राजस्थान (Rajasthan)की वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक और कांग्रेस के कद्दावर नेता गजेंद्र सिंह शक्तावत गुरुवार (Thursday) को पंचतत्व में विलीन हो गए. उन्हें उदयपुर (Udaipur) जिले के भींडर गांव के मोक्षधाम में इकलौते बेटे विंध्यराज ने मुखाग्नि दी. शक्तावत के अंतिम संस्कार में उनके परिजन और रिश्तेदार भी शामिल हुए. आपको बता दें कि, शक्तावत का दिल्ली के निजी अस्पताल में निधन हो गया था. उनका पिछले 37 दिनों से वहां इलाज चल रहा था. शक्तावत को इलाज के दौरान कोरोना संक्रमण भी हो गया था, लेकिन उन्होंने कोरोना को हरा दिया था.

हालांकि, निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर की जांच की गई तो वह कोरोना पॉजिटिव मिले. शक्तावत के शव की रिपोर्ट कोराना पॉजिटिव आने के चलते परिजनों ने पीपीई किट पहनी थी. इससे पहले शक्तावत को उनके निवास पर पूर्व उपमुख्यमंत्री (Chief Minister) सचिन पायलट, मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास, रघु शर्मा, उदयलाल आंजना समेत प्रदेश के कई नेताओं ने श्रद्धांजलि दी. साथ ही इस कद्दावर नेता की अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे और शक्तावत के शोक में आज भींडर के बाजार भी बंद रहे. गौरतलब है कि, गजेंद्र सिंह शक्तावत ने अब तक 3 बार विधायक का चुनाव लड़ा था. साल 2008 और 2018 में उन्हें जीत हासिल हुई, जबकि 2013 में शक्तावत को चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा था. 2008 में चुनाव जीतने के बाद शक्तावत को गहलोत सरकार में संसदीय सचिव की जिम्मेदारी दी गई थी. शक्तावत सचिन पायलट के बेहद खास रहे हैं.

Check Also

बिहार पंचायत पुनर्गठन को लेकर अधिनियम में संशोधन जल्द

पटना (Patna) . बिहार (Bihar) में ग्राम पंचायतों के पुनर्गठन को लेकर पंचायत राज अधिनियम …