जोधपुर में शादी के 21 साल बाद दहेज लौटाने पहुंचा पूर्व फौजी


जोधपुर. राजस्थान के जोधपुर जिले के सिलारी गांव में एक रिटायर्ड फौजी का हैरान कर देने वाला कारनामा सामने आया है. बताया गया ‎कि तिलवासनी गांव का रहने वाला रिटायर्ड फौजी ओमाराम जाट एक टैक्सी पर अपनी पत्नी का फोटो और 21 साल बाद दहेज लौटाने का बैनर लगा कर पहुंचा है. इस दौरान उसने टैक्सी में दहेज का सामान रखा था और बैनर पर बड़े-बड़े अक्षरों में “विद्या जाटणी सुपुत्री मंगलाराम परासरिया” नाम के साथ दहेज लौटाने और किसी को आपत्ति होने पर मोबाइल नंबर पर संपर्क करने की बात लिखी थी.

हालां‎कि ओमाराम ने यहां पहुंचने के बाद एक सरकारी स्कूल में घुसकर प्रार्थना सभा में “शादी मत करना” कहते हुए भाषण देना शुरू कर दिया. इस दौरान उसने वहां पहुंचे अपने ससुराल पक्ष के चार लोगों को गोली मार दी. इस फायरिंग में तीन लोग घायल हुए हैं जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. हालां‎कि गोली चलाने के बाद आरोपी ओमाराम जाट मौके से फरार हो गया. बताया गया ‎कि सभी घायलों को स्थानीय अस्पताल ने तीनो को जोधपुर रेफर कर दिया. इस दौरान ओमाराम के ससुर ने उसके खिलाफ पुलिस में केस दर्ज कराया है. जिसके बाद पुलिस उसे सरगर्मी से तलाश कर रही है. इस पर पुलिस का कहना है ‎कि पूर्व फौजी और उसके ससुराल पक्ष के बीच दहेज प्रताड़ना का केस चल रहा है. ‎फिलहाल, पु‎लिस उसकी तलाश में द‎बिश दे रही है.

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today