फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को भ्रष्टाचार के मामले में एक साल की जेल

पेरिस . फ्रांस में पेरिस की एक अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को भ्रष्टाचार के एक मामले में दोषी करार दिया है और उन्हें एक साल जेल और दो साल निलंबित कारावास की सजा सुनाई. फ्रांस में 2007 से 2012 तक राष्ट्रपति रहे सरकोजी (66) को 2014 में एक वरिष्ठ मजिस्ट्रेट से अवैध तरीके से सूचनाएं हासिल करने के प्रयास के लिए दोषी ठहराया गया है.

सरकोजी ने इस मामले में खुद को निर्दोष बताया है और अब वह आगे अपील कर सकते हैं. अदालत ने कहा कि सरकोजी घर पर हिरासत में रहने का अनुरोध कर सकेंगे और उन्हें इलेक्ट्रॉनिक पट्टी पहननी होगी. सरकोजी 2012 में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान अवैध धन के इस्तेमाल के आरोप में 13 अन्य लोगों के साथ इस महीने एक और मुकदमे का सामना करेंगे. हालांकि, दो साल जेल की सजा निलंबित होने से उनके जेल जाने की संभावना कम है. उनके पास फैसले के खिलाफ अपील करने के लिए 10 दिन का वक्त है.

अभियोजन पक्ष ने यह साबित किया कि सरकोजी ने जज गिलबर्ट एजिबर्ट को मोनाको में एक नौकरी की पेशकश की थी. इसके बदले में लॉरियाल की लिलियन बेटेनकोर्ट से अवैध रकम लेने के मामले के आरोप की जांच के बारे में गुप्त जानकारी मांगी थी. सरकोजी पर 2007 के चुनावी कैंपेन के लिए ये पैसे लेने का आरोप था. वकीलों ने बताया कि यह बात तब सामने आई जब सरकोजी और उनके वकील थिएरी हरजॉग के बीच बातचीत को टैप किया जा रहा था. उनके फोन को उसी कैंपेन में लीबियाई फाइनैंसिंग के आरोपों की जांच के लिए टैप किया जा रहा था. आरोप था कि लीबिया के पूर्व तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी ने सरकोजी को नोटों से भरा बैग दिया था.

Check Also

ब्राजील में नर्सों ने बनाया ऐसा दस्ताना, जो कोरोना के मरीजों को देगा इनसानी स्पर्श

ब्रासीलिया . कोरोना (Corona virus) के कहर से जूझ रहे ब्राजील में एक मरीज अकेलापन …