पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने किया संस्कारधानी की जनता से भेदभाव

राजनाँदगाँव .-नगर पालिक निगम के कांग्रेस दल के प्रवक्ता ऋषि शास्त्री ने अपना बयान जारी कर पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) रमन सिंह पर सीधा निशाना साधते हुए कहा है कि नगर पालिक निगम राजनाँदगाँव में कुल 51 वार्ड है वर्तमान में पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने विधायक निधि का बंटवारा किया है जिसमें उन्होंने केवल ऐसे वार्ड चुने जहां भाजपा के पार्षद जीत के आये हैं और अन्य 3ो वार्डे को विधायक निधि से वंचित रखा गया क्या अन्य 3ो वार्ड की जनता ने उन्हें वोट नही दिया? या फिर क्या नगर पालिक निगम के 3ो महत्वपूर्ण वार्ड उनकी विधानसभा क्षेत्र में नही आते? 15 वर्ष तक मुख्यमंत्री (Chief Minister) रहने के बावजूद भी विधायक रमन सिंह को अपने क्षेत्र की जनता का कितना ख्याल है वह इस.त्य से साफ जाहिर हो रहा है साथ ही भाजपा का जनता से भेदभाव उनके राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के इस प्रकार की राजनीति करने से साफ जाहिर हुआ है संस्कारधानी की जनता ने वोट दे कर उन्हें भूतल से शीर्ष तक पहुचाया और इन्होंने केवल जनता से राजनीति की जिसकी बू प्रकट उनके विधायक निधि के बंटवारे से आरही है.

पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) यह सूद भूल गए है कि उनके विधानसभा में वर्तमान मुख्यमंत्री (Chief Minister) भूपेश बघेल ने अपने ष् वर्ष कार्यकाल में न केवल सभी क्षेत्रों में विकास कार्य के लिए राशि दी है बल्कि न्याय योजना से जोड़ते हुए कांग्रेस सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) रमन सिंह एवं उनके पुत्र पूर्व सांसद (Member of parliament) अभिषेक सिंह ने अपना धान सरकार को बेचने पर आन रिकार्ड में खरीदी की और पैसे भी उनके खाते में डाले है.

कोरोना काल मे रमन सिंह के विधानसभा में आने वाले नगर पालिक निगम की महापौर हेमा सुदेश देशमुख ने अपनी निधि का जिस तरीके से प्रत्येक वार्ड में जरूरत अनुसार राशन सामग्रियों का वितरण किया है और आपातकालीन स्थिति को सामान्य करने का प्रयास करते हुए जनता का पेट भरने का कार्य किया है यह सभी बातें जनप्रतिनिधियों के प्रतिनिधित्व को दर्शाता है.

Check Also

निगम आयुक्त पांडेय का तबादला त्रिपाठी होंगे निगम के नए आयुक्त

बिलासपुर (Bilaspur) . प्रदेश सरकार ने प्रशानिक अधिकारियों की एक ट्रांसफर लिस्ट जारी की है. …