लॉकडाउन की आड़ में हजारों कर्मचारियों के साथ शोषण व धोखाधड़ी · Indias News

लॉकडाउन की आड़ में हजारों कर्मचारियों के साथ शोषण व धोखाधड़ी

उदयपुर (Udaipur). उद्योग जगत मे आए दिन कर्मचारियों के शोषण व उनके साथ धोखे बात आजकल आम हो गई है. इस लोकडाउन मे कर्मचारियों की परेशानियों के साथ कई मामले सामने आए हैं, जिसमें उदयपुर (Udaipur) के पेसिफिक मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल में लंबे समय से वेतन नहीं मिलने और कर्मचारियों के साथ पीएफ फंड के धोखे की शिकायते भी सामने आई.

इन शिकायतों पर युवा सेना जिला अध्यक्ष व मीडिया (Media) प्रभारी गौरव नागदा ने कर्मचारियों की आवाज उठाई जिस पर श्रम विभाग ने उक्त संस्थान को नोटिस जारी किया है. पीएफ विभाग उक्त संस्थान के विरुद्ध करीब 88 लाख रुपये की वसूली निकाली व संस्थान और उसके सचिव राहुल अग्रवाल पर IPC 406 – 409 में मुकदमा दर्ज करने के लिए सुखेर थाने मे दिसंबर में शिकायत भेज कार्रवाई करने के लिए लिखा था, लेकिन पुलिस (Police) ने अभी तक मामला दर्ज नहीं किया है.

पीएफ विभाग ने एक बार पुनः रिमाइडर भेजा उसके बाद भी मामला दर्ज नहीं किया है जो कहीं न कहीं संदेह पैदा करता है. 5 माह तक जांच के नाम पर दर्ज नहीं करना भी अपने आप में एक अपराध है साथ ही पुलिस (Police) की कार्यशेली पर कई सवाल खड़े करता हैं. शिव-सेना मेवाड़ संभाग संबंधित पुलिस (Police) अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए तुरंत बर्खास्त करने की मांग करती हैं.

इसी मामले में आरटीआई व सामाजिक कार्यकर्ता मंजु सोलंकी का कहना है कि उक्त मामला संज्ञेय अपराध हैं तथा जिस पर पुलिस (Police) ने मामले को गोलमाल कर दिया है. उल्‍लेखनीय है कि सज्ञेय अपराध के अन्तर्गत तुरन्त FIR के आदेश DGP महोदय द्वारा दिए गए हैं. उक्‍त मामले में थानाधिकारी द्वारा 166A IPC का अपराध कर रहे है. श्री नागदा ने बताया कि इस संबंध में DGP महोदय को शीघ्र ही कार्रवाई करने के लिए लिखा जाएगा.

इस संबंध में जब उदयपुर (Udaipur) किरण ने सुखेर थानाधिकारी डीपी दाधीच से बात की तो उनका कहना था कि अभी मामले की जांच जारी है. शीघ्र उचित कार्रवाई की जाएगी.

Check Also

एमपीयूएटी मे लॉकडाउन के समय सभी पाठ्यक्रम ऑनलाइन पूरे हुऐ

उदयपुर (Udaipur).  माननीय कुलपति एमपीयूएटी और एमएलएसयू, उदयपुर (Udaipur) डॉ. नरेंद्र सिंह राठौड़ ने विश्वविद्यालय …