विशेषज्ञ बोले- कोविड संक्रमण कम होने का मतलब बीमारी खत्‍म होना नहीं

नई दिल्‍ली . फैस्टिव सीजन की बहार से लोग खुश है और बाजार भी गुलजार है पर कोरोना को लेकर लापरवाह हो रहे हैं. कोरोना के रोजाना आने वाले मामलों में भी काफी कमी दिखाई दे रही है. सभी बाजारों को खोल दिया गया है और भारी संख्‍या में भीड़ पहुंच रही है. लोगों को अब लगने लगा है कि कोरोना का संक्रमण कम होने के बाद यह महामारी (Epidemic) खत्‍म हो चुकी है लेकिन यहां लोगों को संभलने की जरूरत है. अभी भी लोगों में पोस्ट कोविड के लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं और अस्‍पताल भरे पड़े हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि जब पोस्‍ट कोविड के मरीजों की एक बड़ी संख्‍या देश में मौजूद है, अगर कोरोना की तीसरी लहर आती है तो हालात दूसरी लहर से भी ज्‍यादा खतरनाक हो जाएंगे. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) गोरखपुर की कार्यकारी निदेशक डॉ. सुरेखा किशोर का कहना है कि मामलों का घटना बड़ी परेशानी का कारण भी बन सकता है. ऐसे में किशोर लोगों से कोविड प्रोटोकॉल के अलावा कई अन्‍य सावधानियां बरतने के लिए कह रहे हैं.
डॉ. सुरेखा कहती हैं कि कोरोना महामारी (Epidemic) के मामले भले ही कम हुए हैं लेकिन बीमारी समाप्त नहीं हुई है. ये बीमारी अभी भी चल रही है. इसके लिए देश और दुनिया के वैज्ञानिक जानते हैं कि ऐसा हो सकता है कि तीसरी लहर आए और दूसरी लहर की तरह रूप धारण कर ले. जैसा कि हम सब जानते हैं कि कोरोना का स्ट्रेन बदल रहा है और जब भी यह बीमारी अपना स्ट्रेन बदलती है, तो महामारी (Epidemic) का रूप धारण कर लेती है. उस समय में संक्रमितों की संख्या में बड़ी तेजी से इजाफा होने लगता है.

फिलहाल कोरोना के मामले कम हैं. इसका मतलब यह कतई नहीं है कि बीमारी ख़त्म हो गई है. वहीं, हमारा देश त्योहारों का देश है. आने वाले समय में कई त्यौहार हैं. इस दौरान लोगों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है. लोगों को भी सतर्क और जागरुक रहने की जरूरत है. इसके लिए जब कभी घर से बाहर निकलें, तो मास्क हमेशा लगाकर रखें. मास्क का इस्तेमाल बिलकुल न छोड़ें. शारीरिक दूरी का पालन करें. साथ ही अपने हाथों को नियमित अंतराल पर सैनिटाइज करें. जब कभी समय और सुविधा मिले, तो अपने हाथों को साबुन और साफ पानी से जरूर धो लें. एक चीज का अवश्य ध्यान रखें कि त्योहारों में भीड़ इकठ्ठा न करें. घर पर ही त्योहारों को मनाएं. जितना हो सके, घर से बाहर कम से कम जाएं और बाहर स्पिटिंग (थूकना) बिल्कुल न करें. कोरोना की जटिलताओं और समस्याओं पर शोध अभी भी जारी है. देश और दुनिया के वैज्ञानिक इस पर काम कर रहे हैं. कोरोना (Corona virus) की जटिलताओं को रोकने का सबसे सरल तरीका है. आप खुद को कोरोना की बीमारी होने से बचाएं और दूसरों को भी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रोत्साहित करें. साथ ही पीएम मोदी के प्रयासों को सफल बनाएं और कोरोना वैक्सीन जरूर लगवाएं. इसके लिए दोनों डोज लें. इससे कोरोना (Corona virus) के फैलते संक्रमण को काफी हद तक कंट्रोल कर सकते हैं. इसके लिए दोनों चीजें जरूर करें.

Check Also

कोरोना महामारी के कठिन वक्त में भी दोस्‍ती की कसौटी रहा भारत-आसियान : पीएम मोदी

नई दिल्‍ली . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कहा कि कोरोना महामारी …