नई दिल्ली, 31 मार्च . भाजपा ने उत्तराखंड की गढ़वाल सीट से अनिल बलूनी को अपना उम्मीदवार बनाया है. अनिल बलूनी लगातार क्षेत्र में चुनाव प्रचार कर रहे हैं और यहां की जनता के साथ संवाद भी स्थापित कर रहे हैं.

बता दें कि उत्तराखंड की 5 लोकसभा सीटों पर 19 अप्रैल को पहले चरण में मतदान होना है. उत्तराखंड की इस वीआईपी सीट पर भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की जगह पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया हेड अनिल बलूनी को चुनावी मैदान में उतारा है. अनिल बलूनी पौड़ी जिले के रहने वाले हैं. वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेहद करीबी माने जाते हैं. संगठन पर उनकी पकड़ अच्छी है. वह पार्टी के राष्ट्रीय मुख्य प्रवक्ता भी हैं.

अनिल बलूनी के उम्मीदवार बनते ही उनके खिलाफ विरोधियों का हल्ला-बोल शुरू हो गया, जिसके बाद एक जनसभा के दौरान उन्होंने अपने विरोधियों को घेरते हुए कहा, ”मुझे जब गलत कहा जाता है तो मुझे बहुत पीड़ा होती है, जब मैं मौत से लड़ रहा था तब भी गढ़वाल के भले की बात सोच रहा था, मैं हर वक्त गढ़वाल के भले की और यहां के लोगों की बात करना चाहता था.”

उन्होंने कहा कि जब उत्तराखंड में मदरसों की बात की जाती थी, इस्लामिक यूनिवर्सिटी की बात की जाती थी. कौन प्रदेश का अध्यक्ष था बताइए. और हमको बाहर का कहा जाता है. इसलिए आप लोगों को जवाब देना है. पीएम मोदी की सरकार बनानी है. आप सोचिए अगर कांग्रेसी आ जाएंगे तो अपका राशन खा जाएंगे, आपकी पेंशन खा जाएंगे, आपका विकलांग पेंशन खा जाएंगे, आपकी वृद्धावस्था पेंशन खा जाएंगे, आपके आयुष्मान कार्ड का पैसा खा जाएंगे. अपनी जेब में यह सब कांग्रेसी डाल लेंगे. आपको बता दें, बलूनी ने दो वर्ष की लड़ाई के बाद कैंसर को हराया है, अब वह गढ़वाल सीट से लोकसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

जीकेटी/