एलन मस्क की नेटवर्थ दिनदूनी रात चौगुनी गति से बढ़ रही

वॉशिंगटन . अमेरिकी कंपनी टेस्ला के मालिक एलन मस्क की नेटवर्थ रॉकेट की स्पीड से दिनदूनी रात चौगुनी बढ़ रही है. जहां दुनियाभर में माइक्रोचिप की कमी के बावजूद इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला की आय और मुनाफा तीसरी तिमाही में नए रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए. कंपनी के शेयर में भी लगातार तेजी आ रही है. इस साल कंपनी का शेयर 18 फीसदी चढ़ चुका है. इससे कंपनी के सीईओ एलन मस्क की नेटवर्थ रॉकेट की स्पीड से बढ़ रही है. इस साल उनकी नेटवर्थ 72 अरब डॉलर (Dollar) बढ़ चुकी है. जिस तरह से मस्क की नेटवर्थ बढ़ रही है, उससे वह दुनिया के पहले ट्रिलिनेयर बन सकते हैं. यानी उनकी नेटवर्थ आने वाले दिनों में 1 लाख करोड़ डॉलर (Dollar) पहुंच सकती है. मोर्गन स्टेनली के एनालिस्ट एडम जोंस का कहना है कि मस्क की कंपनी स्पेसएक्स में विकास की अपार संभावनाएं हैं. यही वजह है कि मस्क के दुनिया के पहले ट्रिलिनेयर बनने की संभावना बढ़ गई है. टेस्ला के तीसरी तिमाही के नतीजों के मुताबिक कंपनी की नेट इनकम 1.62 अरब डॉलर (Dollar) रही. यह दूसरा मौका है जब कंपनी की इनकम 1 अरब डॉलर (Dollar) के पार पहुंची है. पिछली तिमाही में कंपनी की नेट इनकम 33.1 करोड़ डॉलर (Dollar) रही थी.

टेस्ला का तीन तिमाहियों का रेवेन्यू 57 फीसदी बढ़कर 13.8 अरब डॉलर (Dollar) पहुंच गया जबकि मुनाफा 77 फीसदी बढ़कर 3.7 अरब डॉलर (Dollar) रहा. कंपनी ने इसी महीने घोषणा की कि उसने पहली तिमाही में 237,823 गाड़ियां बनाई और 241,300 गाड़ियां डिलीवर कीं. ऑटोमोटिव डिवीजन की ग्रॉस मार्जिन में सुधार कंपनी का मुनाफा रेकॉर्ड स्तर पर गया है. कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि चिप की कमी और बंदरगाहों पर भीड़भाड़ के कारण टेस्ला के प्लांट पूरी क्षमता के साथ काम नहीं कर पाए. लेकिन कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि उसकी प्रॉडक्शन टीमों ने इस समस्याओं से पार पाने के लिए काफी मेहनत की है. ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इडैक्स के मुताबिक मस्क की नेटवर्थ 242 अरब डॉलर (Dollar) पहुंच चुकी है और दुनिया के अमीरों की लिस्ट में ऐमजॉन के फाउंडर जेफ बेजोस को कहीं पीछे छोड़ चुके हैं. मस्क की नेटवर्थ बिल गेट्स और वॉरेन बफे की कंबाइंड नेटवर्थ से अधिक है. गेट्स 133 अरब डॉलर (Dollar) की नेटवर्थ के साथ अमीरों की लिस्ट में चौथे और बफे 105 अरब डॉलर (Dollar) की नेटवर्थ के साथ 10वें नंबर पर हैं. ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इडैक्स के मुताबिक मस्क की नेटवर्थ में स्पेसएक्स की हिस्सेदारी केवल 17 फीसदी है. आने वाले दिनों में इसमें भारी उछाल आने की संभावना है. स्पेसएक्स स्पेस ट्रैवल के क्षेत्र में काफी काम कर रही है. इसके अंदर कई कंपनियां हैं जो रॉकेट और सैटेलाइट बनाने, डीप स्पेस एक्सप्लोरेशन के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाने में शामिल हैं. इसकी सैटेलाइट कम्युनिकेशंस कंपनी स्टारलिंक में भी काफी संभावनाएं हैं.
 

Check Also

दक्षिण अफ्रीका में शेवाने यूनिवर्सिटी बना ओमीक्रोन का हॉटस्पाट, कुछ परीक्षाएं स्थगित

प्रिटोरिया . दक्षिण अफ्रीका में कोरोना मामलों के हुई नवीनतम बढ़ोतरी में शेवाने यूनिवर्सिटी (टीयूटी) …