घरो में ही अदा की गई ईद उल फ़ित्र की नमाज़ · Indias News

घरो में ही अदा की गई ईद उल फ़ित्र की नमाज़

उदयपुर (Udaipur). रमज़ान माह के तीस रोज़े पूरे करने के बाद बोहरा समुदाय ने आज वैश्विक महामारी (Epidemic) कोरोना के कारण शहर के विभिन्न हिस्सों में लगे कर्फ्यू और लॉकडाउन (Lockdown) में बीच ईद उल फ़ित्र का त्यौहार मनाया. ईद के मौके पर पड़ी जाने वाली विशेष नमाज़ घर पर ही रह कर अदा की गई. समुदाय के लोगो ने घर पर रहकर ही ईद की खुशियाँ मनाई.

सुधारवादी बोहरा समुदाय से संबद्ध दाऊदी बोहरा जमात के प्रवक्ता मंसूर अली ओड़ावाला ने बताया की इससे पूर्व बीते कल शुक्रवार (Friday) दोपहर में रमज़ान के आखिरी जुमा (जुमातुल विदा) की विशेष नमाज़ (जो की आमतौर पर मस्जिदों में अदा की जाती है), इस वर्ष लॉकडाउन (Lockdown) और कर्फ्यू के चलते घरो में ही अदा की गई.

दाऊदी बोहरा जमात के सचिव ज़ाकिर पंसारी और अध्यक्ष फ़ैयाज़ हुसैन इटारसी ने बताया की ईद की विशेष नमाज़ घरो में ही पढ़ी गई. लॉकडाउन (Lockdown) और कर्फ्यू के मद्देनज़र एवं समाज की महामारी (Epidemic) से सुरक्षित रखने को लेकर समुदाय ने ईद की नमाज़ घरो में ही अदा करने का फैसला किया. जिसके चलते मस्जिदों में मौलाना समेत सिर्फ एक दो व्यक्तियों ने नमाज़ अदा कर समाज और देशहित में दुआ की गई. विशेषकर वर्तमान में फैली हुई महामारी (Epidemic) से बचने के लिए दुआ की गई और समाजजनो को कर्फ्यू की पालना और सोशल डिस्टैन्सिंग की सख्त हिदायत दी गई.

समाज जनो ने इस अवसर पर घर पर सेवईंया और मिठाइयां बनाई और सभी खुशियाँ घर पर ही मनाई. वहीँ दूसरी ओर ईद उल फ़ित्र के अवसर पर जहाँ बोहरवाड़ी में आमतौर पर चहल पहल, रेलमपेल और उत्सव सा माहौल रहता है. वह इस बार नदारद रहा. सूनी सूनी गालियां कहीं से भी ईद का अहसास नहीं होने दे रही है.

Check Also

उदयपुर में शुक्रवार को मिले 9 कोरोना मरीज

उदयपुर (Udaipur). उदयपुर (Udaipur) जिले में शुक्रवार (Friday) अपराह्न तक प्राप्त हुई रिपोर्ट में 9 …